इन 3 बड़े भारतीय खिलाड़ियों का करियर हुआ खत्म, BCCI ने टीम से बाहर करने का लिया फ़ैसला !

दोस्तों क्रिकेट की दुनिया में हमने अक्सर देखा है, की अगर कोई खिलाड़ी क्रिकेट से सन्यास लेकर बाहर गया, तो उसके बाद आने वाला नया खिलाड़ी उससे भी ज्यादा धाकड़ खिलाड़ी साबित हुआ। मतलब शुरुवात से अभी तक हमारी क्रिकेट दुनिया में एक से बढ़कर एक खिलाड़ी आते रहे। और इसी के चलते आज भारतीय क्रिकेट टीम के काफी हद तक कंपटीशन भी बढ़ चुका है। जिसके चलते अब भारतीय टीम में 3 ऐसे खिलाड़ी सामने आए है, जिनका इस कंपटीशन के चलते टीम से बाहर होना तय है। क्योंकि इतने कठिन समय में उनका किसी भी प्रकार का कोई योगदान नहीं है।

आज कल टीम में युवा खिलाड़ी पुराने खिलाड़ियों से बेहतर प्रदर्शन करते है। जिसकी वजह से हर कोई युवा खिलाड़ियों की मांग करता है। और यही एक वजह है, की अब युवा खिलाड़ियों के चलते टीम के 3 ऐसे बड़े खिलाड़ी है, जिनका टीम से बाहर होना लगभग तय है। दोस्तो जब कोई भी खिलाड़ी टीम के शामिल होता है, तो सबसे पहले वह यही सोचता है, की क्रिकेट में अपने देश के लिए लंबे समय तक खेले और क्रिकेट सभी फॉर्मेट में अपना नाम कमाए। हालाकि ऐसा बहुत कम खिलाड़ी ही कर पाते है। आज हम आपको ऐसे ही 3 खिलाड़ियों के बारे में बताने जा रहे है, जिनका कैरियर अब लगभग क्रिकेट दुनिया से खत्म होने की कगार पर है।

1. अजिंक्य रहाणेदोस्तो इस लिस्ट का हमारा पहला नाम अर्जिक्य रहाणे है। दोस्तो अभी कुछ समय पहले बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली ने अर्जिक्या के टीम से बाहर होने के कुछ बड़े संकेत दिए थे। अभी श्रीलंका के खिलाफ मार्च में होने वाली 2 मैचों की टेस्ट सीरीज में ऐसा माना जा रहा है, की टीम से अर्जिकया रहने का पत्ता कट जायेगा। दोस्तो ये बात आपको बखूबी पता होगी, की पिछले काफी लंबे समय से अर्जिक्य टीम के लिए कुछ खास प्रदर्शन नहीं कर पा रहे और उनके लगातार फ्लॉप होने के बावजूद उन्हे बहुत से मौके दिए जा चुके है। लेकिन अर्जिक्य अभी तक खुद को साबित नही कर पाए है। और उनके इन्ही खराब प्रदर्शन को देखते हुए अब माना जा रहा है, की उनका टेस्ट कैरियर समाप्त होने वाला है।

अजिंक्य रहाणे की बात करें तो सबसे बड़ी दिक्कत उनकी कंसिस्टेंसी है, वो हर मैच में टीम के लिए अहम योगदान नहीं दे पाते, यही वजह है कि टीम इंडिया के सेलेक्टर्स ऐसे बल्लेबाज को उनकी जगह फिट करना चाहते हैं जो रहाणे का लॉन्ग टर्म रिप्लेसमेंट साबित हो। हाल ही में बीसीसीआई के अध्यक्ष सौरव गांगुली ने रहाणे को लेकर कहा था, रहाणे को रन बनाने होंगे और उन्हें रणजी ट्रॉफी में अच्छा प्रदर्शन करना होगा। मुझे यकीन है कि वे ऐसा करेंगे। गांगुली की इस बात से साफ होता है कि रहाणे को अब टीम इंडिया में जगह बनाने के लिए रणजी में बेहतर करना होगा। श्रेयस अय्यर टेस्ट टीम में अजिंक्य रहाणे की जगह ले सकते हैं।

2. ऋद्धिमान साहादोस्तो इस लिस्ट का दूसरा नाम रिद्धिमान साहा है। दोस्तो अगर वर्तमान समय में देखा जाए तो साहा दुनिया के सबसे खतरनाक विकेटकीपर में से एक है। लेकिन अब भारतीय टीम मैनेजमेंट द्वारा सेलेक्टर्स को ये खबर दी गई, की आने वाले समय में रिद्धिमान साहा उनकी टीम में शामिल नहीं हो सकते। और इसके साथ ही बीसीसीआई द्वारा एक खबर के जरिए ये साफ हो चुका है, की रिद्धिमान के पास अब मात्र सन्यास लेने का ऑप्शन ही रह गया है।

वही दूसरी ओर ये खबर भी आ रही है, की 4 मार्च से श्रीलंका के खिलाफ टेस्ट सीरीज की टीम के रिद्धिमान का होना असंभव है। इस बात की जानकारी बीसीसीआई के सूत्र के मुताबिक मिली जिन्होंने पीटीआई से कहा, की भारतीय टीम मैनेजमेंट के प्रभावशाली लोगों ने ऋद्धिमान साहा को स्पष्ट रूप से बता दिया है कि वे आगे बढ़ना चाहते हैं और ऋषभ पंत के साथ कुछ नए बैकअप तैयार करना चाहते है। बीसीसीआई द्वारा इस बात की जानकारी भी मिली है, की रिद्धिमान को पहले ही इस बात की खबर दे दी गई है, की उन्हें श्रीलंका की टेस्ट सीरीज में शामिल नहीं किया जाएगा, क्योंकि अब केएस भरत को सीनियर टीम के मौका दिया जाएगा।

3. ईशांत शर्मादोस्तो इस लिस्ट का तीसरा और आखरी नाम इशांत शर्मा का शामिल है। दोस्तो बीसीसीआई द्वारा हाल ही में एक खबर आई है, की भारतीय टीम के शानदार गेंदबाज ईशांत शर्मा का कैरियर अब खतरे में है। अभी हाल ही में साउथ अफ्रीका के साथ हुए सीरीज में इशांत को एक भी मैच खेलने का मौका नही दिया गया। इससे साफ तौर पर जाहिर है, की इशांत का कैरियर अब खत्म होने की तरफ तेजी से बढ़ रहा है।

इस बात की जानकारी बीसीसीआई के मुताबिक सामने आई, की भारतीय टीम में जसप्रीत बुमराह, मोहम्मद शमी, और मोहम्मद सिराज क्रम से पहले दूसरे और तीसरे नंबर पर आते है। और चौथे नंबर पर लोगो ने शार्दूल ठाकुर को सबसे अच्छा गेंदबाज माना और शार्दूल एक ऑलराउंडर भी है। और पांचवे नंबर के लिए लोगो ने उमेश यादव को शामिल किया। जिसके चलते साफतौर पर जाहिर है, की इशांत के पास अब एक मात्र सन्यास का ऑप्शन ही बचा है। अगर इशांत के कैरियर की बात करे, तो इन्होंने साल 2007 में बांग्लादेश के खिलाफ हुए टेस्ट मैच से अपने कैरियर की शुरवात कर दी थी। जहां इन्होंने जोरदार प्रदर्शन किया था। और इशांत ने लगभग 100 टेस्ट मैचों से ज्यादा मैच खेले। जहां इन्होंने 311 विकेट अपने खाते में डाले लेकिन अब समय आ गया है, की इशांत को सन्यास लेने की जरूरत पड़ेगी।