धोनी नहीं देते मौका तो भारत को कभी नहीं मिलते ये 5 मैच विनर !

भारतीय टीम के अनुभवी कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने 2008 में भारतीय टीम की कप्तानी संभाली थी। जिसके बाद उनके पास कई चुनौतियां थी। युवाओं खिलाड़ियों को मौका देना और भविष्य के लिए एक अच्छे टीम का चुनाव करना. धोनी ने बहुत सारा चुनौतियों का सामना करते हुए अपने टीम के लिए बहुत कुछ किये है

धोनी की बेहतरीन कप्तानी के वजह से भारत ने आईसीसी वर्ल्ड टी-20, 2007, वर्ल्ड कप 2011 और आईसीसी चैम्पियंस ट्रॉफी 2013 का खिताब भी जीत चुका है. भारत पहली बार 2009 में टेस्ट में नंबर एक बना था। धोनी ने भारतीय तिह में पांच ऐसे बेहतरीन खिलाड़ी शामिल किया। जो अभी के समय में मच विनर बन चुके ही जो की अभी वर्ल्ड क्रिकेट में अपना बिस्पोटक प्रदर्शन दिखा रहे है।

विराट कोहली ने अपनी शानदार करियर की शुरुआत धोनी की कप्तानी में शुरुआत की थी। धोनी ने वनडे क्रिकेट में विराट कोहली को नंबर तीन पर लाने का मौका दिया था। कोहली का बेहतरीन प्रदर्शन देख कर धोनी ने उसे टेस्ट में भी मौका दिया। 2011-12 के ऑस्ट्रेलियाई दौरे में विराट कोहली कुछ खास प्रदर्शन नहीं कर पाए थे। लेकिन धोनी ने उन्हें लगातार मौका दिया।

रोहित शर्मा पहले बहुत ही ख़राब फॉर्म में चल रहे थे। फिर भी धोनी ने इन्हे लगातार मौका दिया। लगातार मौक मिलने के बाद रोहित का पूरा करियर बदल गया। धोनी के कारन रोहित शर्मा वनडे क्रिकेट के सलामी बल्लेबाज बन गए 2013 के बाद रोहित ने अपने बल्लेबाजी के कारन अपना नया रूप सामने लाया। ये अपने प्रदर्शन के वजह से हिटमैन के नाम से भी जाने जाते है।

दुनिया के शानदार स्पिन गेंदबाज रविचंद्रन अश्विन जो की ऑफ स्पिनर है। धोनी ने अश्विन को 2010 में पहली बार आईपीएल में खेलने का मौका दिया था। आईपीएल में अश्विन ने अपना शानदार प्रदर्शन दिखाया पहले अश्विन IPL में CSK की तरफ से धोनी की कप्तानी में खेलते थे। अच्छे प्रदर्शन के कारन धोनी ने इन्हे भारतीय टीम में भी मौका दिया। अच्छे फॉर्म में रहने के कारन 2011 के वर्ल्ड कप में भी खेले थे।

रवींद्र जडेजा अपने शानदार प्रदर्शन के कारन भारतीय टीम में मच विनर्स में से एक बन गए हैं। गेंदबाजी, बल्लेबाजी और फील्डिंग तीनों में ही इनका जबरदस्त प्रदर्शन रहा है। धोनी ने इन्हे भारतीय टीम में खेलने का मौका दिया था। धोनी की कप्तानी में CSK की तरफ से खेलते है। जिनमे इनका काफी अच्छा प्रदर्शन रहता है। धोनी के चहिते होने के कारन धोनी इनको टीम में मौका दिया था। अभी ये बहुत ही अच्छा आल राउंडर है।

महेंद्र सिंह धोनी और सुरेश रैना इन दोनों के बिच कुछ खास दोस्ती रही है। आईपीएल में चेन्नई सुपर किंग्स के सबसे बड़े मैच विनर हैं। इंटरनेशनल क्रिकेट से सुरेश रैना अब सन्याश ले चुके है। धोनी ने रैना को अपनी कप्तानी में लगातार खेलने का मौका दिया था। धोनी सुरेश रैना का बहुत सुपोर्ट करते थे। जिससे कारन आज रैना T-20 के खतरनाक बल्लेबाजो में गिने जाते है।