IPL 2022 मेगा ऑक्शन में इन 5 खिलाड़ियो को नही मिलेगा ख़रीदार, नंबर 2 वाला हैं सबका फ़ेवरेट

दोस्तो आईपीएल का अगला सीजन हमे जल्द ही देखने को मिलेगा, और इस बार आईपीएल का रोमांच कुछ और ही मोड़ पर होगा। क्योंकि इस बार आईपीएल में दो नई टीमों के जुड़ने से काफी कुछ बदलाव किए गए है। जहां एक तरफ आईपीएल रिटेंशन की प्रक्रिया पूरी हो चुकी है, वही अब मेगा ऑक्शन की तैयारी में सारी टीमें लग गई है। और अब खबरे ऐसी आ रही है, की दिग्गज खिलाड़ियों की खरीददार टीम अब मुश्किल नजर आ रही है।

बता दे, की रिटेंशन प्रक्रिया के दौरान आईपीएल की सभी पुरानी 8 टीमों में अपने खिलाड़ियों को रिटेन करके बाकी के खिलाड़ियों को रिलीज कर दिया। रीलीज किए गए खिलाड़ियों की सूची काफी बड़ी है। क्योंकि पुराने खिलाड़ियों को जगह इस बार टीमों ने युवा खिलाड़ियों पर अपना भरोसा जताया है। हालाकि ऐसा नही है, की पुराने खिलाड़ी फॉर्म में नही है, लेकिन इसके बावजूद टीमों में नए खिलाड़ियों को टीम में शामिल करने के बारे में सोचा। और आज हम ऐसे 5 खिलाड़ियों की बात करेगे, जिनके प्रदर्शन के दम पर भी टीम आईपीएल के मेगा ऑक्शन में उन्हे टीम में शामिल करने में शायद ही अपनी दिलचस्पी दिखाये।

इशांत शर्मा
दोस्तो इस लिस्ट में पहला नाम इशांत शर्मा का है। आपको बता दे, की आईपीएल में दिल्ली कैपिटल की तरफ से खेलने वाले इशांत इन दिनो अपनी चोट और खराब फॉर्म की वजह से भारतीय टीम की प्लेइंग इलेवन में भी जगह बनाने में नाकामयाब साबित हो रहे है। बता दे, की इशांत क्रिकेट के सबसे बड़े फॉर्मेट में भी खेल चुके है, लेकिन पिछले सीजन में वह दिल्ली कैपिटल की तरफ से युवा खिलाड़ियों के आ जाने से मात्र बेंच पर बैठे नजर आए थे। हालाकि इस बीच उन्हे खेलने के मौके भी दिए गए, लेकिन उसमे इशांत फ्लॉप रहे। और इसी के चलते उनका पिछला सीजन काफी निराश करने वाला साबित हुआ। ईशांत शर्मा आईपीएल 2021 के 3 मैचो में महज 1 विकेट हासिल कर पाए थे। वही, पूरे आईपीएल करियर की बात करें तो दिल्ली के इस खिलाड़ी ने आईपीएल के 93 मैचों में 73 विकेट हासिल किए हैं। हालांकि, अक्सर चोट की वजह से आईपीएल में भी फ्रेंचाइजी के लिए नहीं खेलते हुए दिखते हैं। ऐसे में खराब फॉर्म की वजह से इस खिलाड़ी पर आईपीएल मेगा ऑक्शन में कोई भी फ्रेंचाइजी बोली लगाने की बजाए युवा खिलाड़ियों को खरीदने पर जोर देगा जिससे ये खिलाड़ी अनसोल्ड रह सकता है।

उमेश यादव
दोस्तो इस लिस्ट का दूसरा नाम उमेश यादव है। दोस्तो भारतीय टीम के टेस्ट गेंदबाज कहे जाने वाले उमेश पिछले साल अपनी कला दिखाने में पूरी तरह से असफल हुए थे। और आवेश खान, कागीसो, एनरिक जैसे दिग्गज गेंदबाजों के चलते उमेश और इशांत जैसे खिलाड़ियों को प्लेइंग इलेवन में खेलने का मौका ही नही मिला। बता दे, की पिछले सीजन में दिल्ली कैपिटल ने उमेश यादव को उनके आधार मूल्य 1 करोड़ में खरीदा था। और इसी के साथ दिल्ली कैपिटल से अपने आईपीएल कैरियर की शुरुवात करने वाले 34 वर्ष के उमेश को 2022 में ही टीम ने रीलीज कर दिया। उमेश यादव आईपीएल में खेले गए 121 मैचों में 8.51 की इकॉनमी से 119 विकेट झटके हैं। हालांकि, हालिया फॉर्म और टी20 क्रिकेट नहीं खेलने की वजह से इस खिलाड़ी का आईपीएल के मेगा ऑक्शन में खरीददार मिलना मुश्किल दिख रहा है।

सुरेश रैना
दोस्तो अब आपको सुरेश रैना का नाम सुनकर शायद हैरानी हो रही होगी। लेकिन सीएसके के लिए काफी लंबे समय से प्रदर्शन करने वाले और भारतीय टीम के दिग्गज खिलाड़ियों में से एक सुरेश रैना को भी इस बार सीएसके टीम ने आजाद कर दिया है। क्योंकि इंटरनेशनल से दूरियां बनाने वाले सुरेश रैना का खराब फॉर्म अब उनके हैसियत के आड़े आने लगा है। और चाहते हुए भी आईपीएल 2021 के आखरी फैसले पर उनके दोस्त और सीएसके कप्तान एमएस धोनी सीएसके टीम में उनकी जगह नहीं बचा सके। वही अगर फाइनल मैच की बात करे, तो उस दौरान भी रैना डग आउट के नजारे ही देख रहे थे। सुरेश रैना 2021 आईपीएल में 12 मैच में 17.77 की साधारण औसत और 125 की स्ट्राइक रेट से महज 160 रन ही बना सके. इस दौरान उनका उच्चतम स्कोर नाबाद 54 रन रहा। रैना यूएई लेग में पूरी तरह से फ्लॉप रहे। रैना के पूरे आईपीएल करियर की बात करें तो 205 मैचों की 200 पारियों में 30 बार नाबाद रहते हुए 32.51 की औसत और 136.76 की स्ट्राइक रेट से 5528 रन बनाए हैं। इस दौरान उन्होंने 1 शतक और 39 अर्धशतक लगाए हैं। इस दौरान उनके बल्ले से 506 चौके और 203 छक्के निकले हैं। फिलहाल आईपीएल में रन बनाने के मामले में चौथे पोजिशन पर है। जहां, निजी कारणों से साल 2020 आईपीएल से हट गए थे जबकि पिछले सीजन में उनका बल्ला पूरी तरह से खामोश रहा।

जयदेव उनादकद
दोस्तो अगर हम साल 2018 के मेगा ऑक्शन की बात करे, तो भारतीय टीम के तेज़ गेंदबाज जयदेव को आईपीएल की राजस्थान रॉयल्स ने पूरे 11.5 करोड़ रुपए में अपने साथ शामिल किया था, और इतना ही नहीं बल्कि इस सीजन के सबसे महंगे गेंदबाजों में से भी एक थे। और इसके पिछले सीजन में जयदेव को पुणे सुपरजोइंट्स ने मात्र 30 लाख रुपए में अपने खेमे में लिया था। लेकिन इस दौरान आईपीएल के इतिहास में सबसे खतरनाक ओवर फेकने वाले इस खिलाड़ी की किस्मत उसी समय पलट गई। लेकिन हाल ही में खेले गए आईपीएल में इनका एस सीजन काफी खराब साबित हुआ। पिछले सीजन के 6 मैचों में जयदेव मात्र 4 विकेट अपने नाम कर पाए। और अगर हाल ही के नजारे को देखा जाए, तो टीमों में युवा गेंदबाजों के आने से और 30 वर्षीय जयदेव के खराब फॉर्म के चलते इस बार शायद ही इन पर कोई टीम दांव लगाना पसंद करेगी। बता दे, की जयदेव ने अपने आईपीएल करियर में 86 मैचों में 8.74 की इकॉनमी से 85 विकेट हासिल किए है।

केदार जाधव
दोस्तो ये नाम तो आपको बखूबी याद होगा, एक समय पर ये नाम भारतीय टीम के उन नामों में शामिल होता था, जो सिर्फ नाम से ही मैदान में तहलका मचा देते थे। दोस्तो केदार जाधव ने पिछले साल सनराइजर्स हैदराबाद की तरफ से खेला था। लेकिन उनके खराब प्रदर्शन के चलते इस साल टीम ने उन्हे रीलीज कर दिया। और साथ ही उनके खराब फॉर्म और उनकी इंजरी के चलते भारतीय टीम से पहले ही वे बाहर हो चुके है, और अब मुश्किल है, की कोई आईपीएल टीम उन्हे अपने साथ शामिल करने का मन बनाएगी। भारतीय टीम के लगातार खराब प्रदर्शन करने वाले केदार जाधव ने पिछले सीजन में सनराइजर्स हैदराबाद के लिए भी खराब प्रदर्शन ही किया जिसके चलते उन्हे यूएई लेग के प्लेयिंग इलेवन से भी बाहर कर दिया। बता दे, की इसके पहले केदार जाधव सीएसके के लिए खेल चुके है, वही अगर इनके पिछले आईपीएल सीजन की बात करे, तो इन्होने सनराइजर्स हैदराबाद के लिए मात्र 6 मैच खेले है। जहां इन्होंने 13.75 की साधारण औसत और 105.76 की इकॉनमी से महज 55 रन ही बनाए थे। बता दे, की उनकी उम्र 37 साल की हो चुकी है। और इसी के साथ अब केदार जाधव अपने खराब फॉर्म और फिटनेस के चलते आईपीएल के अगले सीजन वो लिए अगर अनसोल्ड खिलाड़ियों में लिस्ट में शामिल हो गए तो इसमें कोई हैरानी वाली बात नही होगी।