UAE लेग में इन 8 खिलाड़ियों ने किया IPL में सबसे खराब प्रदर्शन !

इस साल के आईपीएल का दूसरा लेग युएई में खेला गया और अब आखिरी 2 मैच ही बचे हुए हैं. चेन्नई सुपर किंग्स फाइनल में पहुंच चुकी है और उसका फाइनल में मुकाबला दिल्ली केपिटल या कोलकाता नाइट राइडर्स में से किसी एक टीम से होगा. युएई लेग में काफी खिलाड़ियों ने निराशाजनक प्रदर्शन किया और आज हम हर एक टीम के एक खिलाड़ी के बारें में बताएंगे.


1. मोईन अली (चेन्नई सुपर किंग्स)

मोईन अली ने युएई लेग में सभी मैच खेले, लेकिन वो भारत में किए गए प्रदर्शन को युएई लेग में दोहरा नहीं सके. मोईन अली बल्ले और गेंद दोनों से असफल रहें हैं, लेकिन दूसरे खिलाड़ियों की सफलता ने उनकी असफलता छुपाई हैं.



2. कागिसो रबाडा (दिल्ली केपिटल)

कागिसो रबाडा पिछले 2 सीजन में कमाल का प्रदर्शन कर चुके हैं और इस साल भी वो भारत में अच्छा प्रदर्शन किए, लेकिन युएई लेग में उनका प्रदर्शन काफी निराशाजनक रहा. कागिसो रबाडा को ना नयी गेंद से विकेट मिली ना पुरानी गेंद से. आवेश खान और नोर्खिया की अच्छी गेंदबाजी की वजह से कागिसो रबाडा की असफलता किसी को दिखी नहीं.



3. इयॉन मॉर्गंन (कोलकाता नाइट राइडर्स)

इयॉन मॉर्गंन का प्रदर्शन युएई लेग में काफी खराब रहा हैं. इयॉन मॉर्गंन सिर्फ कप्तान होने की वजह से टीम में खेलते हुए नजर आ रहें हैं और उनको टीम से बाहर किए जाने की काफी मांग उठी हैं. इयॉन मॉर्गंन बतौर बल्लेबाज बुरी तरह से असफल रहे हैं.



4. एबी डिविलियर्स (रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर)

जब इस साल का आईपीएल भारत में शुरूआत में खेला गया तब एबी डिविलियर्स ने तुफानी बल्लेबाजी करते हुए आरसीबी को कुछ मैच जिताएं, लेकिन युएई लेग में एबी डिविलियर्स का बल्ला शांत रहा. एबी डिविलियर्स एक भी मैच में अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पाए और उस वजह से आरसीबी की बल्लेबाजी काफी कमजोर लगी.



5. हार्दिक पंड्या (मुंबई इंडियंस)

हार्दिक पंड्या का खराब प्रदर्शन से मुंबई इंडियंस ही नहीं बल्कि भारत की भी परेशानी बढ़ा दी हैं. हार्दिक पंड्या बल्ले से बुरी तरह से असफल रहे तो उन्होंने गेंदबाजी की नहीं जिस वजह से उनको भारतीय टीम से बाहर किए जाने की मांग उठी हैं. हार्दिक पंड्या का ये खराब प्रदर्शन मुंबई इंडियंस को काफी भारी पड़ा.


6. निकोलस पुरान (पंजाब किंग्स)

निकोलस पुरान के उपर पंजाब किंग्स के मिडल अॉर्डर की जिम्मेदारी थी, लेकिन निकोलस पुरान इस युएई लेग में असफल रहे. उनके खराब प्रदर्शन की वजह से हर बार पंजाब किंग्स अच्छा स्कोर करने में नाकाम रहा जिस वजह से पंजाब किंग्स आउट हुई.



7. क्रिस मॉरिस (राजस्थान रॉयल्स)

क्रिस मॉरिस के उपर राजस्थान रॉयल्स को बड़ी उम्मीद थी, लेकिन क्रिस मॉरिस ने युएई लेग में काफी खराब प्रदर्शन किया. ना वो गेंदबाजी में कुछ कर पाए और ना ही उनका बल्ला चला. क्रिस मॉरिस का निराशाजनक प्रदर्शन राजस्थान रॉयल्स के लिए काफी भारी पड़ा.



8. केन विलियमसन (सनराइजर्स हैदराबाद)

डेविड वॉर्नर को बाहर करने के बाद सनराइजर्स हैदराबाद की जिम्मेदारी केन विलियमसन के उपर थी, लेकिन कप्तानी और बल्लेबाजी दोनों में केन विलियमसन का प्रदर्शन काफी खराब रहा जिस वजह से उनकी काफी आलोचना भी हुई. सनराइजर्स हैदराबाद इस साल आखिरी पायदान पर रहीं.