एबी डीविलियर्स ने बर्बाद किया एक और खिलाडी का करियर, क्रिकेटर ने किया ख़ुलासा

एबी डीविलियर्स की मुश्किलें कम होने के बजाये और बढ़ ही रही है, अभी हाल ही में रबाडा ने इनपर इल्जाम लगाया था, और अब एक और साउथ अफ्रीकी खिलाडी ने इल्जाम लगाया है ।

साउथ अफ्रीकी बल्लेबाज खाया जोंडो ने डीविलियर्स पर आरोप लगाया है कि भारत के खिलाफ 2015 के वनडे सीरीज में एबी डीविलियर्स ने ही उनका सेलेक्शन टीम में नहीं होने दिया था। क्युकी उस वक्त डीविलियर्स साउथ अफ्रीकी टीम के कप्तान थे।

दरअसल भारत के खिलाफ खेले गए उस सीरीज के तीसरे मैच में दिग्गज ऑलराउंडर जेपी डुमिनी चोटिल हो गए थे और सीरीज से बाहर हो गए थे, जिसके बाद खाया जोंडो अपना पदार्पण करने वाले थे। हालांकि कुछ अलग कारणों से साउथ अफ्रीका टीम मैनेजमेंट ने डीन एल्गर को टीम में शामिल कर लिया।

अहम् चौंकाने वाली बात ये थी कि एल्गर उस समय मौजूदा टीम का हिस्सा नहीं थे लेकिन फिर भी उन्हें सीरीज के आखिरी दो मैचों में खेलने का मौका दिया गया था।

एक रिपोर्ट के मुताबिक साउथ अफ्रीकी टीम मैनेजमेंट ने खाया जोंडो को प्लेइंग इलेवन में शामिल किया था लेकिन प्रभावी कप्तान एबी डीविलियर्स ने मैनेजमेंट को धमकी दी थी कि अगर खाया जोंडो खेलेंगे तो फिर वो भारत का दौरा बीच में ही छोड़कर वापस साउथ अफ्रीका चले जाएंगे।

खाया जोंडो ने उस वक्त डीविलियर्स के साथ हुई पूरी बातचीत के बारे में खुलासा किया है। उन्होंने सोशल जस्टिस और नेशन बिल्डिंग की सुनवाई के दौरान कहा “कप्तान डीविलियर्स ने मुझे टीम से बिलकुल अलग एक जगह बुलाया और कहा कि उन्हें लगता है कि मुझे मैच नहीं खेलना चाहिए। जो की मेरे लिए एकदम चौकाने वाला था”

एबी डीविलियर्स पर पहले भी तेज गेंदबाज कगिसो रबाडा को भी साउथ अफ्रीकी टीम से बाहर करने का आरोप लगा है, इसी वजह से ये सुनवाई हो रही है। पूर्व चयनकर्ता हुसैन मनाक ने ये दावा किया कि जब एबी डीविलियर्स कप्तान थे तब टीम मैनेजमेंट रबाडा को मैच खेलने का मौका नहीं देना चाहती थी। ये मामला इंग्लैंड के खिलाफ खेले गए 2015-16 के वांडरर्स टेस्ट मैच का है।

हालांकि बाद में डीविलियर्स ने अपने ऊपर लगे सारे आरोपों से इंकार कर दिया। उनका कहना था कि वो कभी भी कगिसो रबाडा को टीम से ड्रॉप नहीं करना चाहते थे, क्युकी वह एक बहुत ही अच्छे गेंदबाज़ है।