विराट कोहली की कप्तानी के अंत की शुरुआत अश्विन के इस विद्रोह से हुई !

भारतीय क्रिकेट टीम में वर्तमान समय में कुछ उलट-पुलट दिखाई दे रही है। गौरतलब है कि कुछ समय पहले ही भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली ने टी20 की कप्तानी से इस्तीफा दे दिया था। इसे लेकर उन्होंने सोशल मीडिया पर एक बहुत बड़ा पोस्ट शेयर किया था। जिसमें बताया कि अब वह वनडे और टेस्ट की कप्तानी करेंगे जबकि T20 वर्ल्ड कप के बाद टी-20 फॉर्मेट की कप्तानी छोड़ देंगे।

आपको बता दें कि विराट कोहली ने अचानक से टी20 की कप्तानी से इस्तीफ़ा देने का फ़ैसला नहीं किया था इसके पीछे काफी समय लगा था लेकिन यह खबर मीडिया में लीक नहीं हुई थी। विराट कोहली पिछले कुछ समय से अपने दम पर फैसला ले रहे थे एक तरफ से देखा जाए तो वह टीम के साथ काम करने की बजाए फैसले लेने में अकेले ही आगे रहते थे।

विराट कोहली के लिए अश्विन बने सबसे बड़ी मुसीबत

आपको बता दें कि विराट कोहली ने कप्तानी लेने के बाद से अब तक कोई भी बड़ा टूर्नामेंट अपने नाम नहीं किया है। विराट कोहली के निर्णय लेने में सबसे बड़ी मुसीबत भारतीय क्रिकेट के स्पिनर रविचंद्रन अश्विन बने क्योंकि विराट कोहली ने उनके साथ सबसे अधिक पक्षपाती रवैया अपनाया था और यही उन पर भारी पड़ गया।

विराट कोहली ने अश्विन को वनडे टीम से कर दिया था बाहर

दरअसल रविचंद्रन अश्विन भारत के वर्तमान समय में सबसे बेहतरीन स्पिनर माने जाते हैं। 2017 के बाद से लगातार वनडे में अश्विन नहीं खेल रहे थे और यही बात भारतीय क्रिकेट बोर्ड को अखर रही थी। कुछ समय से कोहली भी असफल हो रहे थे जिसे लेकर बोर्ड उनसे नाराज था।

सूत्रों के अनुसार T20 वर्ल्ड कप में भी कोहली अश्विन को शामिल नहीं करना चाहते थे लेकिन बोर्ड ने अश्विन को शामिल किया। बीसीसीआई के अध्यक्ष सौरव गांगुली के रहते पक्षपात होना बिल्कुल भी मुनासिब नहीं था। हाल ही में खबर है कि इंग्लैंड दौरे पर

विराट कोहली ने एक सीनियर खिलाड़ी के साथ बदतमीजी भी की थी इसके बाद अब यह मामला काफी बढ़ गया था और उन्हें t20 से इस्तीफा भी देना पड़ा। इसके पीछे सबसे बड़ी वजह अश्विन रहे हैं।