रविचन्द्रन अश्विन ने किया बड़ा ऐलान, अगर ऐसा हुआ तो मैं क्रिकेट से ले लूंगा सन्यास !

भारतीय टीम के इतिहास को अगर याद किया जाए, तो हमारी भारतीय टीम में एक से बढ़ के एक खिलाड़ी रहे है। जिन्होंने भारत को मैच में जिताने के लिए काफी मेहनत की। और वहीं अगर टीम में स्पिनर्स की बात करे, तो अभी तक हमारी भारतीय टीम अनिल कुंबले से अच्छे स्पिनर नही आए। और अनिल के बाद जिन्होंने भारतीय टीम में स्पिनर की बेहतरीन भूमिका निभाई है, वो अश्विन है।

जिन्होंने आज तक मैदान में अपनी बेहतरीन प्रदर्शन से भारतीय टीम को बेहद खुश किया। इसलिए खिलाड़ियों का मानना है, की अश्विन भारतीय टीम की जान है। बता दे, की अश्विन का टेस्ट मैच में भी काफी जोरदार प्रदर्शन रहा। और फिलहाल उन्हें वॉशिंगटन सुंदर और अक्षर पटेल जैसे युवा खिलाड़ियों के जरिए चुनौतियों का सामना करना पड़ रहा है। लेकिन फिर भी अश्विन का जवाब नही।

बता दे, की अश्विन अपने सिपनिंग को लेकर बिलकुल भी चिंतित नहीं है। वो हमेशा अपनी तरफ से शानदार प्रदर्शन करते है। और उनका ये प्रदर्शन। लोगो को काफी पसंद भी आता है। और उनका मन उन्हे और भी अच्छा प्रदर्शन करने के लिए प्रेरित करता है। इसी के चलते अश्विन ने ये भी बताया, की जब भी उनमें अपने काम को लेकर कोई दिक्कत महसूस होगी। तब वो खुद ही मैच से दूरी बना लेगे।

अश्विन ने आईसीसी डॉट कॉम से बातचीत के दौरान बताया, की टेस्ट क्रिकेट की खूबी ये है कि आप हमेशा परफेक्ट बनने की ख्वाहिश रखते हैं, लेकिन आप उत्कृष्टता से भी खुशी हासिल कर सकते हैं। इसलिए मैं ऐसा करता हूं। आगे अश्विन ने बताया, की मुझे लगता है, कि मैंने अपने करियर में अब तक जो कुछ भी हासिल किया है, वो इसी नजरिये के कारण है, मैंने किसी भी चीज के लिए समझौता नहीं किया। मैं लगातार सुधार की तलाश में रहता हूं। और मैं फिर से ये कहना चाहूंगा कि अगर मुझे अलग अलग चीजें करना पसंद नहीं होगा। और मैं कुछ नया करने के लिए धैर्य नहीं रख पाऊंगा या संतुष्ट हो जाऊंगा तो मैं खेल जारी नहीं रख सकता हूं।

अश्विन का मानना है, की वो अपने प्रदर्शन से सवाल उठाने वालो को उनका जवाब देने में मानते है। अश्विन ने आगे कहा, की ऐसा नहीं है, कि मैं विवादों का लुत्फ उठाता हूं। लेकिन मुझे संघर्ष करने में अच्छा लगता है। और यही कारण है, कि मैं यहां तक पहुंचा हूं। मैं जीत का उतना जश्न नहीं मनाता जितना मुझे आदर्श रूप से मनाना चाहिए। क्योंकि मेरे लिए जीत एक घटना है। मैं मानता हूं, कि ये योजना और अभ्यास के समावेश से मिलती है। मैं जीतने के बाद भी बैठकर सोचता हूं, कि इससे बेहतर क्या हो सकता है।

मैं अगर ईमानदारी से कहूं तो मैं वास्तव में अपने प्रदर्शन पर ज्यादा ध्यान नहीं देता हूं। सच्चाई से कहूं तो मैं मुझे ये बात पसंद नहीं कि मैं किस कारण से पहचाना जाता हूं। भारत में आपकी बहुत प्रशंसा होती है, लेकिन मैं सिर्फ एक सामान्य व्यक्ति हूं। जो खेल खेलकर शांति और खुशी पाता है। इसी तरह से बात करते हुए, अश्विन ने हमे बारे में कुछ बाते बताई। जिसके चलते हमे उनके बारे में जानने को मिला।

दोस्तो ये बात बहुत खास है, की हमारी भारतीय टीम में ऐसे खिलाड़ी भी है, जो अपने खेल को अपना काम मानते हुए, उसे पूरी मेहनत और ईमानदारी से करते है। हमारी भारतीय टीम में सभी खिलाड़ी ऐसे है, जो अपनी मेहनत और लगन से ना सिर्फ अपना बल्कि पूरे भारत का नाम रोशन कर रहे है। और दर्शकों के दिलों में अपनी जगह बना रहे है।