जानिए क्यों सब भारतीय टीम के खिलाडी ने पहनी काली पट्टी !

भारतीय टीम के और इंग्लैंड के बीच में हाल ही में चौथा टेस्ट मैच खेला जा रहा है जिसका आज पहला दिन था। मैच शुरू होने से पहले भारतीय टीम ने राष्ट्रगान के मौके पर अपने हाथ पर काली पट्टी बंधी हुई थी।

आपकी जानकारी के लिए बताना चाहेंगे कि भारतीय टीम ने काली पट्टी भारत के पूर्व कोच वासु परांजपे के सम्मान में बंधी थी। मुंबई के पूर्व खिलाड़ी और पूरा कोच वासु का सोमवार को 82 वर्ष की उम्र में निधन हो गया था। भारतीय टीम के हाथ पर काली पट्टी बांधना कुछ और नहीं बल्कि उनके सम्मान और उनके प्रति शोक व्यक्त करने की एक निशानी थी।

प्राप्त जानकारी के अनुसार वासु परांजपे का बीमारी के चलते निधन हो गया था। मैच शुरू होने से पहले भारतीय टीम द्वारा राष्ट्रीय गान गाया गया उस मौके पर भारतीय टीम ने काली पट्टी बांधकर पूर्व खिलाड़ी और कोच को सम्मान दिया।

उनकी यह तस्वीर सोशल मीडिया पर बीसीसीआई ने अपलोड की। बीसीसीआई ने यह तस्वीर शेयर करते हुए कहा कि भारतीय टीम ने गया काली पट्टी भारत के पूर्व खिलाड़ी और कोच वासु परांजपे के निधन के उपरांत उनके प्रति शोक व्यक्त करने के लिए बांधी है।

आपकी जानकारी के लिए बताना चाहिए कि वासु भारत के पूर्व खिलाड़ी सुनील गावस्कर, युवराज सिंह, संजय मांझरेकर और सौरव गांगुली को सलाह देने के लिए जाने जाते थे। इस मौके पर भारत के पूर्व खिलाड़ी सचिन तेंदुलकर ने उनको श्रद्धांजलि देते हुए कहा कि सर आप हमेशा ही हमारे मार्गदर्शक रहेंगे। मैं आपको हमेशा से ही जानता हूं आप हमेशा से ही एक अच्छे कोच थे।

सचिन तेंदुलकर ने कहा कि मैंने उन्हें बचपन से ही देखा है कि वह हमेशा ही मुझे अच्छी सलाह देते हैं और मेरा मार्गदर्शन करते हैं। उनके जाने के बाद में मुझे यकीन नहीं हो पा रहा है कि वह इस दुनिया में मौजूद नहीं है। उन्होंने हमारी पीढ़ी को हमेशा ही अच्छा खेलना सिखाया है। सचिन तेंदुलकर ने आगे लिखते हुए कहा कि मेरे लिए यकीन कर पाना काफी मुश्किल है कि अब मैं उन्हें नहीं देख पाऊंगा।