चेतन शर्मा ने खोली विराट के झूठ की पोल, खुद को निर्दोष साबित करने के लिए कोहली ने रचा था पूरा षड़यंत्र

दोस्तों जैसा की आप जानते ही, की एक दिनो भारतीय टीम दक्षिण अफ्रीका के दौरे पर मौजूद है। जहां भारतीय टीम, दक्षिण के सामने टेस्ट सीरीज के पहले मैच को अपने नाम कर चुकी है। दोस्तो नए साल की शुरुवात हो चुकी है, और बीते साल भारतीय टीम में काफी विवादो का सिलसिला चल रहा था। दोस्तो आपने ये कहावत तो सुनी ही होगी, की झूठ चाह कितना ही बड़ा क्यों न हो, मगर सच के सामने काफी छोटा ही होता है।

दोस्तो भारतीय टीम में चल रहे विवादो के बीच हमने पिछले कुछ दिनो देखा की फिलहाल टेस्ट टीम के कप्तान विराट कोहली खुद को सच्चा साबित करने में लगे हुए है। और लगातार बीसीसीआई के अध्यक्ष सौरव गांगुली को झूठा बता रहे है। लेकिन दोस्तो खबरों के मुताबिक सामने आया है, की विराट के झूठ का पूरा मोर्चा अब बीसीसीआई संभालेगी। टीम के मुख्य चयनकर्ताओं में से एक चेतन शर्मा ने उजागर किया है, की विराट कोहली के ऊपर बीसीसीआई की तरफ से किसी प्रकार का कोई दवाब नही था।

उल्टा जब विराट टी20 कप्तानी छोड़ने की बात कर रहे थे, तब बीसीसीआई वालो ने उन्हे दुबारा सोचने के लिए बोला था। दोस्तो चेतन से साफतौर पर ये बताया, की जब विराट कोहली ने टी20 कप्तानी छोड़ने का फैसला किया। तो हम सभी ने उन्हे अपने इस निर्णय पर दुबारा सोचने के लिए कहा था। और इतना ही नहीं बल्कि उन्होंने ये भी बताया, की वनडे कप्तानी से हटाए जाने की खबर भी उन्हे दिसंबर को दे दी गई थी, नकी तब जब विराट ने दावा किया की उन्हे दक्षिण अफ्रीका के दौरे की टीम का एलान करने के डेढ़ घंटे पहले ही सूचना दी है।

दोस्तो आपको बताते चले, की एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान विराट ने ये बताया था, की टी20 कप्तानी ना छोड़ने के लिए उनसे बिलकुल नहीं कहा गया। और इसके साथ उन्होंने ये भी कहा था, की वनडे कप्तानी से हटाए जाए की खबर उन्हे दक्षिण अफ्रीका के दौरे की टीम को घोषणा का एलान करने के डेढ़ घंटे पहले दी गई। लेकिन विराट कोहली का झूठ एक दिन भी नहीं टिक पाया। बीसीसीआई के अफसरों ने नाम न उजागर करने की शर्त पर कई पत्रकारों को बताया कि विराट ने खुद ही रायता फैलाया और इसके बाद अपने आप को निर्दोष सिद्ध करने के लिए उन्होंने यह पूरा षड्यंत्र भी रचाl

इसके अलावा बंगाली पत्रिका की रिपोर्ट के अनुसार ये भी दावा किया गया है कि विराट कोहली सफ़ेद झूठ बोल रहे हैं कि उन्हें कप्तानी से हटाने की कोई सूचना नहीं दी गई थी। इस रिपोर्ट में ये भी उजागर किया गया है कि कैसे विराट कोहली रोहित शर्मा को टीम से हटाने के लिए उद्यत थे? दोस्तो मजेदार बात ये है, की संगबद प्रतिदिन की रिपोर्ट के अनुसार उस दिन मीटिंग में जय शाह और सौरव गांगुली के अलावा रोहित शर्मा और चेतन शर्मा भी मीटिंग में मौजूद थे। और अब जब चेतन ने खुद इस बात को साफ कर दिया की विराट के ऊपर टी20 कप्तानी छोड़ने का किसी प्रकार का दवाब नही डाला गया था। लेकिन अब सवाल ये है, की विराट झूठ क्यों बोल रहे है।

दोस्तो ऐसा माना जा रहा है, की जो सकता है, विराट सौरव गांगुली को उसी प्रकार से नीचा दिखाने की कोशिश कर रहे जैसे उन्होंने पूर्व कोच अनिल कुंबले के साथ किया था। दक्षिण अफ्रीका के दौरे से पहले भारतीय टीम के पूर्व कप्तान कपिल देव ने साफतौर पर ये स्पष्ट किया था, की विराट ने इतने महत्वपूर्ण दौरे के पहले जिस तरह के बयान पेश किए है। ये भारतीय टीम के लिए अच्छा संदेश नही है।

जब देश के सबसे प्रतिभाशाली खिलाड़ी भी आपके व्यवहार से सतुष्ट ना हो तो समझ लीजिए की कुछ न कुछ गडबड जरूर है। दोस्तो लेकिन इन सब बातो में एक बात तो तय है, की अगर विराट कोहली निर्दोष है, तो इन सब बातो से उन्होंने अपनी भद्द पिटवाई है, लेकिन अगर ऐसा नही है, तो विराट कोहली का क्रिकेट करियर पूरी तरह नष्ट होने के कगार पर है, और उन्होंने ये सब खुद ही किया है। खैर दोस्तो अब हमे देखना है, चेतन के इन सब बयानों के बाद विराट किस तरह के बयान पेश करेगे।