विराट कोहली के सपोर्ट में कूदे डेविड वॉर्नर, 2 साल से शतक ना लगाने को लेकर ऐसे किया बचाव !

दोस्तो वैसे तो भारतीय टीम में एक से एक खिलाड़ी आते रहते है, और चले जाते है। लेकिन कुछ खिलाड़ी ऐसे है, को जाने के बाद भी टीम में अपनी यादें हमेशा के लिए छोड़ जाते है। वही एक खिलाड़ी विराट कोहली भी है, हालाकि विराट अभी भी टीम में शामिल है। लेकिन ये एक ऐसे खिलाड़ी है, जिन्हे रन मशीन के नाम से भी जाना जाता है, दोस्तो आपको बता दे, की विराट को टीम का सबसे फिट खिलाड़ी माना जाता है।

लेकिन दोस्तो पिछले करीब दो सालो से विराट की बल्लेबाजी के दौरान एक भी इंटरनेशनल शतक देखने को नहीं मिला। अगर उनके आखरी शतक की बात करे, तो उन्होंने आखरी बार 22 नवंबर 2019 में बांग्लादेश के खिलाफ कोलकाता के ईडन गार्डन में जबरदस्त सेंचुरी मारी थी। वही अगर इनके अभी के खेलो की बात करे, तो पिछली 22 पारियों यानी लगभग 768 दिनो से विराट इंटरनेशनल शतक लगाने के लिए जूझ रहे है।

और इसी के चलते अब उनकी आलोचना भी की जाने लगी है। लेकिन इसी बीच उनके बचाव के लिए ऑस्ट्रेलिया के खिलाड़ी डेविड वार्नर ने अपनी शिरकत की है। और वहीं वसीम अकरम ने भी पहले कोहली की एक विवाद के चलते काफी मदद कर चुके है। इस दौरान डेविड वार्नर ने एक भारतीय पत्रकार से बताया, की हमे विराट के हालातो को समझना चाहिए। वो इंसान काफी लंबे समय से बायो बबल में खेल रहा है। और वो हाल ही में पिता बने है।

और बड़ी मुश्किलों के बाद उन्हे अपनी बेटी और पत्नी से मिलने का मौका मिल पाता है। और इन्ही सब कुछ अहम कारणों से खिलाड़ी के प्रदर्शन में हमे कमी देखने मिल सकती है। क्योंकि ऐसी परिस्थितियों में अच्छे से अच्छा खिलाड़ी भी खुद को संभाल नहीं पाता। दोस्तो इस बीच ध्यान देने वाली बात ये है, की साल 2019 से अगर हम विराट के बल्लेबब्जी औसत पर नजर डाले तो उनका औसत मात्र 37.17 का है, वही दूसरी ऑस्ट्रेलिया के तेज़ गेंदबाज मिशेल स्टार्क के 38.63 के आंकड़े से भी कम है।

और इसी वजह से ऑस्ट्रेलिया की मीडिया ने विराट पर एक तंज भी कसा था। सेवन क्रिकेट के इस ट्वीट का टीम इंडिया के पूर्व सलामी बल्लेबाज वसीम जाफर ने करारा जवाब दिया। उन्होंने तंज कसते हुए लिखा, नवदीप सैनी का वनडे बैटिंग एवरेज 53.50 है और स्टीव स्मिथ का 43.34 है। दोस्तो सबसे अच्छी बात ये है, की नवदीप सैनी ने 5 वनडे में 107 रनो की पारी खेली।

जिसमे उनका सबसे अधिक स्कोर 107 रन ही रहा। और इतना ही नहीं वे 3 बार नॉट आउट भी करार हुए। और इसी के चलते उनका बल्लेबाजी औसत 50 के ऊपर चला गया। वही स्टीव स्मिथ ने 128 वनडे मैचों में 43.34 की औसत से 4300 रनो का मुकाम हासिल किया।