इन 3 भारतीय गेंदबाजों से बेहद डरे हुए हैं अफ्रीकी कप्तान डीन एल्गर, जानिए कौन हैं ये 3 गेंदबाज़

दोस्तों आप तो जानते ही है, की भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच सेंचुरियन में खेले गए पहले टेस्ट मैच जबरदस्त तरीके से भारत ने 113 रनो से दक्षिण अफ्रीका को पहली बार हराया है। और अपनी इस हार के बाद दक्षिण अफ्रीका के कप्तान डीन एल्गर भारत के 3 गेंदबाजों से काफी खौफ में है। दोस्तो आपको बता दे, की भारतीय टीम ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ सेंचुरियन में पहली बार जीत हासिल की है। और वही अगर दक्षिण अफ्रीका की बात करे, तो इस मैदान में अफ्रीकी टीम की ये मात्र दूसरी हार है।

डीन एल्गर में बताया, की भारतीय टीम में मोहम्मद शमी, जसप्रीत बुमराह और मोहम्मद सिराज के खिलाफ ज्यादा सतर्क होने की जरूरत है। आपको बता दे, की सिर्फ मोहम्मद शमी और जसप्रीत बुमराह ने मिलकर ही इस मैच में 13 विकेट अपने खाते में किए। दक्षिण अफ्रीका के कप्तान में बताया, की मोहमद शामिल ने हमारे दाएं हाथ के तेज़ बल्लेबाजों को काफी परेशानी में डाला। बुमराह हमेशा से ही चुस्त रहते है।

आपको दोनो के लिए काफी मजबूत होने की आवश्यकता है। क्योंकि उनकी गेंदबाजी में हमेशा संतुलन बना रहता है। आगे उन्होंने बताया, की मोहम्मद सिराज भी काफी उम्दा गेंदबाज है। लेकिन हमारी टीम को शमी और बुमराह से ज्यादातर बढ़ के रहने की जरूरत पड़ेगी। बल्लेबाज़ों के लाचार प्रदर्शन के कारण दिन एल्गर ने बताया, की उनकी टीम दूसरे मैच के लिए जोहानिसबर्ग के मैदान में उतरेगी जहां उनका आत्मविश्वास कम नहीं होना चाहिए।

मोहम्मद शमी, जसप्रीत बुमराह और मोहम्मद सिराज सहित भारतीय तेज आक्रमण ने अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया, जिससे दक्षिण अफ्रीका की टीम दोनों पारियों में 197 और 191 रन पर आउट हो गई। भारत ने पहला टेस्ट 113 रन से अपने नाम किया। मैच के बाद एल्गर ने कहा, मुझे नहीं लगता कि जोहानिसबर्ग में जाने से किसी तरह से हमारा आत्मविश्वास कम होने वाला है। एक मैच हारना कभी अच्छा नहीं होता, खासकर जब हम जानते हैं कि हमने कहां गलती की है। मैच के दौरान उन गलतियों को सुधारना मुश्किल है। डीन ने आगे बताया, की उम्मीद है, की जोहानिसबर्ग में दूसरे टेस्ट मैच तक पहुंचने के लिए हमारे पास समय होगा।

हमारे पास अपने समीक्षा का समय भी होगा। दक्षिण अफ्रीका के लिए यह पिछले महीने में पहला मैच है। बता दे, की दक्षिण अफ्रीका टीम ने अक्सर की कप्तानी में मात्र 6 टेस्ट मैच खेले है। क्योंकि इसके पहले ऑस्ट्रेलिया ने 4 टेस्ट मैचों की सीरीज के लिए दक्षिण अफ्रीका जाने से इंकार कर दिया था। वही अगर ऑस्ट्रेलिया के अलावा बात करे, तो एल्गर ने टीम की नियमित कप्तानी हासिल करने के बाद वेस्ट इंडीज के खिलाफ टेस्ट सीरीज में 2.0 से जीत प्राप्त की थी। लेकिन भारत के खिलाफ उन्हे टेस्ट सीरीज के पहले ही टेस्ट मैच में हार का सामना करना पड़ा।

इसके लिए एल्गर ने कहा, की मुझे नही लगता की इससे हमारे आत्मविश्वास में कोई कमी आयेगी। पिछले 6 महीनो में हमने वास्तव में अच्छा प्रदर्शन किया है। इसलिए आगे से हमे उस ऊर्जा का प्रयोग करना है, जो हमारे पास है। आगे उन्होंने बताया, की हां हम निश्चित रूप से अपने खेल की समीक्षा का प्रदर्शन करेगे, निश्चित रूप से हम खेल में अपनी धमाकेदार वापसी करेगे। और ये वही है, जिसकी मुझे उम्मीद है। भारतीय टीम मैच के पहले दिन 3 विकेट गवाकर 270 रनो पर खेल रही थी और काफी मजबूत स्थिति में थी।

और इस दौरान राहुल ने शतकीय पारी का निर्माण किया। उन्होंने बताया, की भारत ने पहली बार 300 से ज्यादा रनो का आंकड़ा पार किया है। वही शुरुवात में टॉस भी उनके पक्ष में था, और वो टॉस जीतने में कामयाब रहे। और ये रन हमे खेल के आखिर 4 दिनो में काफी महंगे साबित हुए। क्योंकि खेल के पहले दिन अगर आप मात्र 3 विकेट अपने खाते में डालते है, तो जाहिर सी बात है, की आगे जाकर ये आपके लिए मुसीबत बनेगा। दोस्तो अब हमे देखना ये है, की दक्षिण अफ्रीका के द्वारा बोली गई बातो में दूसरे टेस्ट मैच में दक्षिण अफ्रीका किस तरह से मैदान में प्रदर्शन करती है।