जब किरमानी ने कपिल से कहा- कप्तान, हमको मार के मरना है

टीम इंडिया के 1983 वर्ल्ड कप में कपिल देव का महत्वपूर्ण रोल था. करो या मरो के मैच में उन्होंने ज़िम्बाब्वे के खिलाफ 175 रन की बेहतरीन पारी खेली थी साल 1983 वर्ल्ड कप विजय का हिस्सा रहे लगभग सभी प्लेयर्स का मानना है कि उस पारी के चलते ही भारत 83 का वर्ल्ड कप जीत पाया था

कपिल ने अपनी 175 की पारी के दौरान सैयद किरमानी और रोजर बिन्नी के साथ महत्वपूर्ण साझेदारियां की थीं इवेंट में यह दोनों भी मौजूद थे कपिल की इस पारी के बारे में बात करते हुए किरमानी ने कहा कि कप्तान, हम करो या मरो की हालत में हैं

हमें मरना नहीं है हमको मार के मरना है. मैं एक गेंद खेलूंगा आप पांच खेलेंगे आप हमारी टीम के बेस्ट हिटर हैं आप पांचों गेंदों को हिट करेंगे वहां से जिस तरह कपिल ने अपना प्रदर्शन दिखाया 175 रन मारे आज तक किसी के बल्ले से ऐसी प्रदर्शन देखने के नहीं मिला

उन परिस्थितियों में बोलर्स को समझ ही नहीं आ रहा था कि गेंद कहां पटकें इस पारी में कपिल के साथ बिन्नी ने अच्छी साझेदारी की कपिल के साथ किरमानी ने भी बहुत अच्छा प्रदर्शन किया था