इन पांच खिलाड़ियो ने 2 देशों की तरफ़ से खेला हैं अंतराष्ट्रीय क्रिकेट, लिस्ट में ये भारतीय खिलाड़ी भी शामिल

दोस्तों क्या आप जानते है, की इंग्लैंड को क्रिकेट का जनक माना गया है। क्योंकि जब भारत पर इंग्लैंड का राज हुआ करता था। तब क्रिकेट यहां भी काफी मशहूर हो गया। और आपको ये तो पता ही होगा, की किसी भी क्रिकेट में मात्र 11 खिलाड़ी ही खेलते है। और इसी वजह से ऐसा कई बार होता है, की दमदार खिलाड़ियों को टीम में मौका नहीं मिलता। और इसी वजह से ऐसी बहुत से खिलाड़ी है, जो क्रिकेट की लगन को पूरा करने दूसरे देशों में शामिल होकर क्रिकेट खेलते है और आज हम आपको ऐसे ही कुछ खिलाड़ियों के बारे में बताएंगे, जिन्हे अपने देश में मौका न मिल पाने के कारण दूसरे देशों से क्रिकेट खेलना शुरू किया इस लिस्ट में एक भारतीय खिलाड़ी भी देखने को मिलेगा।

इयोन मोर्गन

1.इयोन मोर्गन दोस्तो इंग्लैंड की टीम अब तक मात्र एक ही वर्ल्ड कप जीत पाई है। और उस वर्ल्ड कप की जीत में सबसे बड़ा योगदान इयोन मार्गन का है। क्योंकि मार्गन ही 2019 वर्ल्ड कप जीतने वाली इंग्लैड टीम के कप्तान थे। दोस्तो आप जानते होगे, की इयोन मार्गन को हमेशा तेज गेंदबाजी करते हुए देखा गया है, क्योंकि इयोन मार्गन इसी के लिए जाने जाते है। और इयोन कमाल की बल्लेबाजी भी करते है। और इयोन ने इंग्लैंड और आयरलैंड दोनो देशों की तरफ से क्रिकेट में हिस्सा लिया है।

ल्यूक रोंची

2. ल्यूक रोंची दोस्तो अगले खिलाड़ी का नाम ल्यूक रोंची है। और इन्होने ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड की तरफ से क्रिकेट में शिरकत की है। रोंची में साल 2013 में न्यूजीलैंड के साथ अपना डेब्यू किया था। और ऑस्ट्रेलिया में इन्होने साल 2008 में डेब्यू किया था। और फिर बाद में साल 2017 में रोंचि ने क्रिकेट से दूरियां बना ली।

ब्रायड रैंकिन

3. ब्रायड रैंकिन ने इंग्लैंड और आयरलैंड दोनों ही देशों के लिए क्रिकेट खेला है। रैंकिन ने 2007 में आयरलैंड के लिए अपना डेब्यू किया था। वहीं 2013 में उन्होंने इंग्लैंड टीम के लिए भी इंटरनेशनल क्रिकेट खेला फिर 2014 में वो आयरलैंड वापस चले गए और वहीं से खेलने लगे। रैंकिन ने अपने करियर में कुल तीन टेस्ट, 75 वनडे और 50 टी20 मैच खेले हैं। उन्होंने साल 2020 में अपना आखिरी मैच खेला था।

केप्लर वेसेल्स

4. केप्लर वेसेल्स दोस्तो इसी क्रम में हमारा चौथा नाम केप्लर वेसेल्स का आता है। अगर हम इस बल्लेबाज के बारे में बात करे, तो ये खिलाड़ी ऑस्ट्रेलिया और दक्षिण अफ्रीका के साथ क्रिकेट में अपना कमाल दिखा चुके है। बता दे, की उन्होंने अपने 10 साल के कैरियर में 109 वनडे मैच खेले है। जिसमे इन्होंने 1 शतक और 26 अर्धशतक लगाए है। और इन्हीं की वजह इन्होंने कुल मिलाकर 3367 रनो का आंकड़ा भी खड़ा किया है। दोस्तो आपको जानकर हैरानी होगी, की वेसल्स अपने कैरियर में मैदान में खेलते हुए कभी जीरो पर आउट नही हुए, वही ये 7 बार नॉट आउट भी रहे।

अली खान पटौदी

5. इफ्तार अली खान पटौदी दोस्तो इफ्तार अली खान पटौदी अपने समय के सबसे पॉपलर खिलाड़ियों में से एक है। बता दे, की इन्होंने भारत और इंग्लैंड दोनो देशी की तरफ से क्रिकेट में धमाल मचाया। और पटौदी ने अपने कैरियर में 6 टेस्ट मैच खेले जिसमे इन्होंने 3 भारत की तरफ से और 3 इंग्लैंड की तरफ से खेले है। जहां साल 1932 में इंग्लैंड और 1946 में भारत के लिए इन्होंने टेस्ट मैचों में अपनी भूमिका निभाई थी।