गौतम गंभीर का खुलासा- धोनी और मैं एक साथ छोटे से कमरे में ज़मीन पर सोते थे !

क्रिकेट के इस शानदार सफर में पहले आईपीएल और अब टी20 वर्ल्ड कप के बारे में हमे खबरे सुनने मिलती रहती है। और क्रिकेट से जुड़ी नई नई खबर भी हमारे सामने आती रहती है। हाल ही में एक खबर सामने आई है। जिसमे धोनी और गौतम गंभीर एक ही कमरे में जमीन पर सोते हुए नजर आए। इस पूरी बात में कितनी सच्चाई है।

आइए जानते है, दरअसल आपको बता दे, की हमारी टीम के खतरनाक खिलाड़ी धोनी और गंभीर का रिश्ता अच्छा नही चलता। और दोनो के रिश्ते के बीच ऊपर नीचे होता रहता है। और गंभीर भी टीम से अंदर बाहर होते रहते है। जिसके बाद उन्हें इंटरनेशनल क्रिकेट से सन्यास लेना बेहतर लगा। आपको बता दे, की हमारी भारतीय टीम के पूर्व कप्तान और दिग्गज खिलाड़ी धोनी और हमारे पूर्व बल्लेबाज खिलाड़ी गौतम गंभीर के बीच अब रिश्ते कुछ अच्छे नहीं चल रहे। लेकिन जब ये दोनो भारतीय टीम में थे।

तब दोनो एक ही कमरे में जमीन पर सोते थे। और इस बात का खुलासा गंभीर ने खुद स्टार स्पोर्ट्स के एक शो में ये बात बताई है। गौतम गंभीर ने शो में बात करते हुए आगे हमे बताया। की धोनी के साथ मेने एक ही कमरे में समय बिताया है। और हम एक महीने से ज्यादा रूममेट भी रह चुके है। और उस समय हम सिर्फ बालो की बात करते थे क्युकी उस समय धोनी के बाल लंबे हुआ करते थे। यह बताते हुए आगे गंभीर ने कहा, की हमे हमारे जमीन में सोने वाले दिन भी याद है। क्योंकि हमारा कमरा बहुत छोटा हुआ करता था।

और पहले सप्ताह हम इसी सोच में लगे रहे। की इस कमरे को बड़ा कैसे किया जाए। तब गंभीर ने अपनी बात को आग बढ़ाते हुए कहा, की कमरा छोटे होने की वजह से हमने हमारे बेड को बाहर रख दिया था। और हम जमीन पर गद्दा दल के सोते थे। वो हमारे लिए बहुत अच्छे दिन थे। क्युकी उस समय हम दोनो युवा थे। गंभीर का ये मानना भी है, की धोनी एक भाग्यशाली कप्तान है। क्योंकि उन्हें हार प्रारूप में एक अद्भुत टीम मिली है। टीम इंडिया के पूर्व ओपनर ने धोनी के बारे में बताया, की धोनी को कप्तान के तौर पर मिली कामयाबी के पीछे तेज गेंदबाज जहीर खान का बहुत बड़ा हाथ है।

टेस्ट मैच में धोनी के इतने सफल होने का कारण उन्होंने जाहिर खान को बताया। आगे उन्होंने बताया, की जहीर खान, धोनी को मिले ये उनकी खुशकिस्मती थी। जिसका श्रेय गांगुली को जाता है। और उन्होंने बताया, की मेरे हिसाब से जाहिर खान सबसे तेज विश्वस्तरीय गेंदबाज है। गौतम गंभीर ने धोनी के लिए आगे कहा, की धोनी के लिए 2011 का वर्ल्ड कप जीतना आसान रहा।

क्योंकि टीम में सचिन, सहवाग, खुद मैं, युवराज, यूसुफ, और विराट जैसे खिलाड़ी मिले। इसलिए उन्हें सर्वशेष्ठ टीम मिली। इसके लिए हमे कड़ी मेहनत करनी पड़ी थी। जिससे धोनी को बहुत सारी ट्राफियां मिली। इस तरह से गंभीर ने धोनी के बारे में हमे बताया। खैर दोस्तों इस बात में कितनी सच्चाई है, ये तो धोनी और गंभीर ही जानते होगे। लेकिन दोनो का रिश्ता मैच के दौरान कैसा रहा। ये गंभीर में अपने शब्दों में हमे बताया।