सौरव गांगुली के लिए रो पड़े हरभजन सिंह, कहा- आखिरी दम तक दूंगा ‘दादा’ का साथ !

भारतीय क्रिकेट इतिहास में सौरव गांगुली की गिनती एक सफल कप्तानों में की जाती है। सौरव गांगुली को प्यार से लोग दादा कह कर भी पुकारते हैं सौरव गांगुली जिस समय भारतीय टीम के कप्तान थे तो भारतीय टीम काफी बेहतरीन प्रदर्शन करती थी उन्होंने अपनी कप्तानी में इंडिया को युवराज सिंह, वीरेंद्र सहवाग, हरभजन सिंह जैसे स्टार खिलाड़ी दिए।

आपको बता देंगे कुछ समय पहले हरभजन सिंह जब सौरव गांगुली के बारे में बात कर रहे थे तो बात करते करते हुए रो पड़े उसी समय वहां मौजूद सौरव गांगुली भी हरभजन सिंह को ऐसे देखकर काफी इमोशनल हो गए।

हरभजन सिंह ने सौरव गांगुली को लेकर कहा कि “दादा का मतलब बड़ा भाई होता है वैसे मेरा कोई बड़ा भाई है लेकिन अगर मेरा कोई बड़ा भाई होता तो वह मेरे लिए इतना नहीं कर पाता जितना दादा ने किया है।”

हरभजन सिंह ने बात को आगे बढ़ाते हुए कहा कि जब मुझे टीम से बाहर किया गया था तो मानता हूं कि मैंने काफी गलतियां की थी। इसकी वजह से मुझे बाहर निकाला गया था। मेरे पिता का देहांत हो गया था उस वक्त मेरे साथ एक इंसान खड़ा था और वह सौरव गांगुली है।

जिंदगी में मेरे साथ कोई खड़ा रहे या ना रहे और सौरव गांगुली के साथ भी कोई खड़ा रहे या ना रहे लेकिन हरभजन सिंह आखिरी दम तक सौरव गांगुली के साथ खड़ा नजर आएगा।”

हरभजन सिंह ने आगे कहा कि “हमारी कौम में हमें यह सिखाया जाता है कि अगर कोई आपका हाथ पकड़ता है तो फिर उसे कभी भी छोड़ना नहीं चाहिए. दादा मैं हमेशा आपके साथ हूं मुझे कभी भी किसी लायक समझो तो जरूर याद करना।” आपको बता दें कि हरभजन सिंह ने 103 टेस्ट मैचों में 417 विकेट लिए है। वह एक समय भारत के सबसे बेहतरीन स्पिनर हुआ करते थे।