5 खिलाड़ी जिनका अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट करियर चोट के कारण हुआ खत्म !

क्रिकेट एक ऐसा खेल है जिसमें अक्सर खिलाड़ी चोटिल होते रहते हैं । कई खिलाड़ी है जो चोट से जल्दी उभर जाते हैं मगर कई खिलाड़ी ऐसे भी होते हैं जो चोट से फिर कभी उभर नहीं पाते हैं । आज हम ऐसे ही 5 खिलाड़ियों के बारे में बात करने जाने वाले है :

1) नाथन ब्रैकेन (ऑस्ट्रेलिया)

नाथन ब्रैकेन ऑस्ट्रेलिया के दिग्गज तेज़ गेंदबाज है । 31 साल के उम्र में उन्हें घुटने की चोट लगी थी । जिससे ना तो ऑस्ट्रेलिया टीम ने सीरियसली लिया ना ही खिलाड़ी ने जिसका कमायाजा उन्हें अपने क्रिकेट कैरियर को गभाना पड़ा ।

2) मार्क बाउचर ( साउथ अफ्रीका )

मार्क बाउचर साउथ अफ्रीका के टेस्ट में एक अच्छे विकेटकीपर बल्लेबाज थे । मार्क बाउचर एक लोकल मैच में समरसेट के खिलाफ इमरान ताहिर की गेंद पर आंख पर चोट खा बैठे थे। इसके पीछे की वजह थी कि क्यों कि मार्क बाउचर ने हेलमेट नहीं पहना था । मार्क बाउचर को इसके बाद अपने कैरियर को गवाना पड़ा था ।

3) सबा करीम (भारत)

सबा करीम साल 2000 में भारतीय टीम के विकेटकीपर थे । उस दौरान एक बार अनिल कुंबले की गेंद उनके आंख पर लगी और चोट इतनी गहरी थी कि सबा करीम फिर से कभी क्रिकेट नहीं खेल पाए । उन्होंने भारत के लिए 1 टेस्ट और 34 वनडे मैच खेला था ।

4) क्रेग कीस्वेटर (इंग्लैंड)

क्रेग कीस्वेटर इंग्लैंड के विकेटकीपर बल्लेबाज थे। एक मैच के दौरान डेविड विली की गेंद उनकी आंख पर लगी जिसके बाद वह फिर कभी क्रिकेट में वापसी नहीं कर सके । इस हादसे में उनकी आंख की 70-80% रोशनी चली गई थी ।

5) डेविड लारेन्स ( इंग्लैंड )

डेविड लॉरेंस इंग्लैंड के प्रमुख गेंदबाज के रूप में माने जाते थे । 1992 में न्यूजीलैंड के खिलाफ खेले गए मैच में उनके पैर में एक ऐसे चोट लगी कि वह फिर कभी गेंदबाजी नहीं कर पाए । उन्होने इसके बाद 29 साल के उम्र में ही संन्यास ले लिया ।