रविंद्र जडेजा ने अचानक छोड़ी CSK की कप्तानी, इस वजह से परेशान होकर लिया फ़ैसला

दोस्तो ये बात हम सभी जानते है, की इस साल आईपीएल शुरू होने के ठीक दो दिन पहले सीएसके के कप्तान एमएस धोनी ने टीम की कप्तानी छोड़ दी थी जिसके चलते बाद में ये जिम्मेदारी रविंद्र जडेजा के कंधो में डाली गई। परंतु हाल ही में एक नई खबर ने दस्तक दी है, ये खबर सीएसके फैंस और धोनी फैंस के लिए बहुत अच्छी है। फ्रेंड्स खबरों के मुताबिक जानकारी मिली है, की जडेजा ने आईपीएल 2022 के बीच में ही सीएसके टीम की कप्तानी छोड़ने का फैसला किया है।

जिसके पीछे का कारण उन्होंने अपने खेल पर ध्यान देना बताया है। और अब जडेजा के कप्तानी छोड़ने के बाद ये जिम्मेदारी एक बार फिर से धोनी के हाथो में जा चुकी है। जडेजा अपने खेल पर ध्यान देना चाहते है, जिससे उन्होंने टीम की कप्तानी छोड़ कर धोनी को टीम का कप्तान बनने के लिए कहा। वही धोनी ने भी एक बार फिर से टीम की कमान संभालने के लिए हामी भर दी है। जिससे जडेजा अपने खेल पर ध्यान दे सके। बताना चाहेंगे, की आईपीएल 2022 के शुरू होने के ठीक दो दिन पहले ही धोनी ने सीएसके की कप्तानी छोड़ कर जडेजा को टीम का नया कप्तान बनाया था।

वही जडेजा की कप्तानी के चलते इस साल सीएसके टीम बेहद खराब लय में देखने मिली। टीम का प्रदर्शन जडेजा की कप्तानी में कुछ खास नहीं रहा। सीएसके टीम ने इस साल खेले गए 8 मैचों में मात्र 2 मुकाबलों में जीत हासिल की है। इस जीत के साथ फिलहाल सीएसके टीम पॉइंट्स टेबल पर 9वे नंबर पर विराजमान है। इसके अलावा टीम की कप्तानी संभालने के चक्कर में जडेजा पर काफी दवाब रहा, जिसका नजारा हमे उनके खेल में देखने मिला, 8 मुकाबलों में जडेजा ने इस बार मात्र 112 रन हासिल किए।

इतना ही नहीं बल्कि गेंदबाजी क्रम में भी उन्होंने सिर्फ 5 विकेट ही अपने नाम किए है। मैदान में उनके द्वारा की गई फील्डिंग भी काफी खराब रही, जिसके चलते उन्होंने ये बड़ा फैसला किया और कप्तानी छोड़ने का फैसला किया। दोस्तो सीएसके फैंस अब एक बार फिर से सीएसके टीम की कप्तानी में धोनी को देख पाएंगे। फिलहाल अब हमे ये देखना है, की एक बार फिर से धोनी के कप्तानी करने से टीम पर क्या असर होता है, क्या टीम अपना पांचवा खिताब हासिल करने में सफल हो पाएगी।

धोनी की कप्तानी में क्या सीएसके टीम अपने प्रदर्शन में सुधार ला पाएगी। क्योंकि अब तक जिस प्रकार से टीम ने प्रदर्शन किया है, वो सीएसके फैंस के लिए बेहद निराशाजनक रहा। फैंस लगातार उम्मीद कर रहे है, की टीम फिर से बाकी टीमों को पीछे छोड़ते हुए आगे जाए और खिताब हासिल करने में सफल हो।