इन 5 खिलाड़ियो को पंजाब किंग्स ने खरीदा, लेकिन एक मैच भी खेलने को नही मिला !

दोस्तो वैसे तो क्रिकेट का सबसे पंसदीदा फॉर्मेट आईपीएल जी माना जाता है, और आईपीएल के शुरुवाती दौर से अब तक बहुत सी टीमों ने आईपीएल में शिरकत की है। और इन्ही में से एक पंजाब किंग्स की टीम भी है। जिसने साल 2008 से आईपीएल के पहले एडिशन से आईपीएल के अब तक के सभी सीजन में हिस्सा लिया। हालाकि दोस्तो आपको बता दे, की इतने लंबे सफर के बावजूद पंजाब किंग्स ने आईपीएल का एक भी खिताब और ट्रॉफी अपने नाम नही की। हालाकि इस दौरान पंजाब टीम साल 2014 के आईपीएल में फाइनल तक पहुंचने में सफल हुई थी, लेकिन वहां उसे केकेआर के सामने हार का सामना करना पड़ा था। और इसी दौरान हमे टीम के कुछ ऐसे खिलाड़ी भी देखने को मिले, जिन्हे टीम में रहने के बावजूद टीम के तरफ से खेलने का मौका नहीं दिया गया। और आज हम आपको ऐसे ही पांच खिलाड़ियों के बारे में बताने जा रहे है। जिन्हे टीम का हिस्सा तो बनाया गया, लेकिन एक भी बार उन्हे खेलने का सौभाग्य प्राप्त नहीं हुआ।

स्टुअर्ट ब्रॉड

1. स्टुअर्ट ब्रॉड दोस्तो इस लिस्ट का पहला नाम स्टुअर्ट ब्रॉड का है। दोस्तो आप इन्हे जानते ही होगे, ये खिलाड़ी इंग्लैंड सबसे खतरनाक गेंदबाजों में से एक है। लेकिन इसके बाद भी उन्हे आज तक आईपीएल की टीम में रहने के बावजूद एक भी मैच खेलने नही दिया। बता दे, की इन्हे साल 2011 में पंजाब ने अपनी साथ शामिल किया था। हालाकि इस सीजन में वह चोट से काफी ग्रसित थे, जिसके कारण उन्हे खेलने का मौका नहीं मिला। आपको बता दे, की साल 2011 के वर्ल्ड कप में इंग्लैंड के लिए खेलते हुए उन्हे एक साइड स्ट्रेन का सामना भी करना पड़ा था। और इसी के चलते वो आईपीएल में मैच नही खेल पाए थे, और फिर उसके बाद से आज तक उन्होंने दुबारा कभी आईपीएल में वापसी नहीं की।

डैरेन सैमी

2. डैरेन सैमी दोस्तो इस लिस्ट का दूसरा नाम डेरेन सैमी है। दोस्तो पूर्व टी20 विजेता रह चुके कप्तान डेरेन सैमी ने साल 2017 में पंजाब के लिए अपना आखरी आईपीएल मैच खेला था। हालाकि इसके पहले वेस्ट इंडीज के इस ऑलराउंडर खतरनाक खिलाड़ी ने सनराइजर्स हैदराबाद और आरसीबी के साथ भी शामिल किए जा चुके है।

हालाकि इस दौरान उन्हे एक भी बार खेलने का मौका नहीं दिया गया। और फिर साल 2017 के सीजन के बाद उन्हे टीम से बाहर कर दिया गया था।सैमी के आईपीएल करियर की बात की जाए तो उन्होंने 22 मैच खेले है और 122.41 के स्ट्राइक रेट के साथ 295 रन बनाये है। उन्होंने एक अर्धशतक भी लगाया है। वहीं गेंदबाजी करते हुए उन्होंने 8.9 के इकॉनमी रेट से 11 विकेट लिए है।

बर्ट कॉकली

3. बर्ट कॉकली पर्थ स्कर्चर्स के पूर्व तेज गेंदबाज बर्ट को आईपीएल साल 2009 में पंजाब में शामिल किया गया था। हालाकि इस दौरान उन्हे पंजाब के साथ एक भी मैच खेलने का नसीब प्राप्त नहीं हुआ। बता दे, की बर्ट 35 साल के तेज़ गेंदबाज है। हालाकि इन्होंने साल 2013 में अपना बड़ा मैच खेला था, और उसके बाद से आज तक इन्हे दुबारा कोई भी बड़ा मैच खेलते हुए नही देखा गया है। स्कॉर्चर्स के लिए उन्होंने एकमात्र टी20 मैच जयपुर में ओटागो के खिलाफ चैंपियंस लीग 2013 में खेला था। और इस मैच में उन्होंने 3 ओवर में 45 रन खर्च करके एक भी विकेट हासिल नही कर पाए थे।

बेन ड्वारशुइस

4. बेन ड्वारशुइस दोस्तो ये दिग्गज खिलाड़ी ऑस्ट्रेलिया टीम का तेज गेंदबाज माना जाता है।जहां उन्हे साल 2018 की मेगा नीलामी में पंजाब ने 1.4 करोड़ रुपए में अपने साथ शामिल किया था। लेकिन हैरानी वाली बात तो ये है, की बाएं हाथ के इस धाकड़ गेंदबाज को उस सीजन में एक भी मैच में डेब्यू करने का मौका तक नहीं मिल पाया था। और फिर अगले साल ही उन्हे पंजाब से रीलीज कर दिया गया। और फिर 3 साल के बाद उन्हे एक बार फिर से आईपीएल में दिल्ली कैपिटल ने क्रिस वोक्स की जगह टीम में शामिल किया। लेकिन इस साल में इस खिलाड़ी की किस्मत टूटी हुई ही निकली जहां उन्हे एक भी मैच खेलने का नसीब नही मिला।

काइल मिल्स

5. काइल मिल्स दोस्तो इस लिस्ट में हमारा आखरी और पांचवा नाम काईल मिल्स का है। दोस्तो काईल न्यूजीलैंड के तेज़ गेंदबाजों की लिस्ट में शामिल होते है। और ये साल 2008 में आईपीएल के पहले एडिशन में जोड़े गए थे। हालाकि इस दौरान इन्हे एक भी मैच खेलना नसीब नही हुआ। और इसके बाद से उन्हे कभी आईपीएल में खेलते हुए नही देखा गया है। और फिर इंटरनेशनल क्रिकेट से सन्यास लेने के बाद वह केकेआर के कोचिंग स्टाफ में शामिल हो गए।

अगर इनके कैरियर को देखा जाए तो उन्होंने न्यूजीलैंड टीम में रहते हुए। 42 टी20 इंटरनेशनल मैच में रिप्रेजेंट किया है और 8.21 के इकॉनमी रेट से 43 बल्लेबाजों को अपना शिकार बनाया है।दोस्तो तो ये थे, कुछ ऐसे खिलाड़ी जिन्हे आईपीएल टीमों ने अपने साथ शामिल तो किया लेकिन एक भी मैच में उन्हे शिरकत करने का मौका नहीं मिला। जिसके बाद से ये खिलाड़ी हमे कभी क्रिकेट मैदान में खेलते हुए नजर नहीं आए।