अश्विन को टीम में शामिल नहीं करने पर कोहली के जवाब ने सबकी बोलती बंद कर दी

भारत और इंग्लैंड के बीच वर्तमान में पांच मैचों की टेस्ट सीरीज के लिए जा रही है जिसमें कल सोमवार को खत में चौथे मैच में भारत ने इंग्लैंड को मात दे दी है तथा इसी के साथ भारतीय टीम इस सीरीज में 2-1 की बढ़त बना चुकी है। चौथे टेस्ट मैच में रविचंद्रन अश्विन को प्लेइंग इलेवन में शामिल नहीं किए जाने पर काफी लोगों ने विराट कोहली की आलोचना की थी।

आलोचना करने वालों में कई एक्सपर्ट पूर्व क्रिकेटर और भारतीय दर्शक भी शामिल है। यहां तक कि इंग्लैंड के पूर्व क्रिकेटरों ने भी इस निर्णय की आलोचना की थी और अश्विन को मैच में नहीं खिलाने पर सवाल उठाए थे। क्रिकेट एक्सपर्ट का यह भी दावा किया गया था कि चौथे मैच की चौथी पारी में पिच से स्पिनरों को मदद मिलेगी। ऐसे में लोगों के अनुसार अश्विन के टीम में नहीं होने पर है टीम को बड़ा हर्जाना भुगतना पड़ सकता है लेकिन भारत ने चौथा टेस्ट मैच जीत लिया और इसके चलते काफी लोगों के मुंह अपने आप बंद हो गए।

विराट कोहली ने अश्विन को लेकर दिया यह बयान

मैच खत्म होने के बाद जब प्रेस कॉन्फ्रेंस में कॉलेज से पूछा गया कि अश्विन को आखिर बेंच पर ही बिठाए रखना कितना सही साबित हुआ इस पर विराट कोहली ने कहा कि “हम कभी भी एनालिसिस आंकड़ों या नंबर की ओर नहीं जाते हैं हमें पता है कहां ध्यान देना है और कहां नहीं देना हम टीम के रूप में शामिल फैसला करते हैं और जो को भी कुछ बोलता है उससे हमें कोई फर्क नहीं पड़ता।”कोहली के इस बयान के बाद सभी का मुंह अपने आप बंद हो गया क्योंकि कोहली ने अपने प्लेइंग इलेवन के साथ चौथे मैच को आसानी से जीत लिया।

आपको बता दें कि इस सीरीज में रविंद्र जडेजा ने कुछ खास प्रदर्शन नहीं किया है। टीम में ऑलराउंडर की भूमिका निभाने वाले रविंद्र जडेजा बल्लेबाजी में बिल्कुल भी नहीं चल पा रहे हैं। सूत्रों के अनुसार कप्तान विराट कोहली को अश्विन के बजाय रविंद्र जडेजा की गेंदबाजी पर ज्यादा भरोसा है। हालांकि जडेजा ने इस सीरीज में कुछ विकेट जरूर लिए हैं लेकिन बल्लेबाजी में जडेजा नाकाम रहे। टेस्ट गेंदबाजी की बात करें तो अश्विन के आगे जडेजा नहीं टिक सकते हैं।