तीसरे टेस्ट मैच से पहले टीम इंडिया के लिए आई बुरी खबर, चोटिल हुए इस गेंदबाज का खेलना मुश्किल !

दोस्तों जैसा की आप सभी जानते है, की इस समय दक्षिण अफ्रीका और भारत के बीच टेस्ट सीरीज के दो मुकाबले खेले जा चुके है, जिसमे से पहला मुकाबला भारतीय टीम और दूसरा मुकाबला दक्षिण अफ्रीका ने अपने नाम किया। और अब इस सीरीज का आखरी मुकाबला केपटाउन में खेला जाना है।

और ये मुकाबला इस सीरीज का अंतिम और निर्णायक मुकाबला होगा। और इसी दौरान हमे एक बार फिर जोरदार तरीके से दोनो टीमों के बीच भिडंत देखने को मिलेगी। बता दे, की दोनो के बीच आखरी मुकाबला 11 जनवरी से केपटाउन के न्यू लैंड्स के मैदान पर देखने मिलेगा। और दोनो में से जो भी टीम ये मुकाबला अपने नाम करेगी, वो इस सीरीज को भी अपने कब्जे करने में कामयाब हो जाएगी।

लेकिन दोस्तो इस महत्वपूर्ण मैच के पहले भारतीय टीम के लिए कुछ अच्छी खबर नही है। दरअसल आपको बताना चाहेंगे, की इस आखरी मैच में भारतीय टीम के मोहम्मद सिराज के खेलने में अभी भी खबरे कुछ साफ नहीं हुई है। क्योंकि मोहम्मद सिराज को दूसरे टेस्ट मैच में खेल के दौरान हैमस्ट्रिंग की समस्या हो गई थी।

और भारतीय टीम के कोच राहुल द्रविड़ के अनुसार ऐसा कहा जा रहा है, की सिराज अपनी हैमस्ट्रिंग की चोट से बाहर तो आते जा रहे है, लेकिन हमे इस बात का कोई यकीन नहीं है, की वो 11 जनवरी से टेस्ट सीरीज के फाइनल मुकाबले में खेलते दिखेंगे या नही। उन्होंने आगे बताया, की सिराज अभी पूरी तरह से फिट नहीं है। और हम सभी उनकी फिटनेस को लेकर उन पर काफी ध्यान दे रहे है।

और आने वाले 4 दिनो में हम देखेंगे, की वह कितने फिट है। और उनकी अच्छी तरह से फिट होने के बाद ही हम उनके मैच में खेलने का कुछ फाइनल डिसीजन ले सकते है। वही आगे राहुल द्रविड़ ने सिराज की तारीफ में कहा, की वो दूसरे टेस्ट की पहले इनिंग में भी पूरी तरह फिट नहीं थे। लेकिन इसके बाद भी उन्होंने कमाल की गेंदबाजी की थी। आगे उन्होंने बताया, की इसके बाद हम उनका अच्छे तरह से इस्तेमाल नहीं कर पाए।

और इसी वजह से हमारी रणनीति दूसरे टेस्ट के दौरान काफी खराब दिशा में चली गई थी। और इसके अलावा भारतीय टीम के लिए न सिर्फ सिराज की चोट ही एकमात्र समस्या है, बल्कि हनुमा बिहारी की इंजरी भी है। द्रविड़ ने कहा कि अभी उनकी इंजरी पर फिजियो से कोई बात नहीं हुई है। लिहाजा वो नहीं बता सकते कि हनुमा की इंजरी कितनी गंभीर है।

दोस्तो आपको बताते चले, की भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच 3 मैचों की टेस्ट सीरीज में फिलहाल दोनो टीमें 1.1 से आगे चल रही है। और इतना ही नहीं बल्कि आपको ये भी बताते चले, की भारतीय टीम ने अब तक एक भी बार दक्षिण अफ्रीका की सरजमीं पर टेस्ट सीरीज अपने नाम नही की। और इस बार भारतीय टीम के पास न सिर्फ ये सीरीज जीतने का बल्कि पूरा इतिहास कायम करने का अच्छा मौका है।

और इसी वजह से भारतीय टीम को केपटाउन के मैदान में अपने खराब प्रदर्शन से उभरने के लिए काफी मेहनत की जरूरत है। क्योंकि भारत आज तक केपटाउन मैदान में एक बार टेस्ट मैच नही जीत पाई। यह खेले गए पिछले 5 मुकाबलों में से 3 में भारतीय टीम को हार का सामना करना पड़ा था। और वही 2 टेस्ट मैच ड्रॉ साबित हुए थे। अच्छी बात ये है कि इस बार सीरीज में जो नहीं हुआ वही होता दिख रहा है। भारत सेंचुरियन में पहले नहीं जीता था, लेकिन वहां पहला टेस्ट जीता। इसके बाद जोहानिसबर्ग में नहीं हारा था, पर पहली बार हारा और दूसरा टेस्ट गंवाया। और अगर ऐसा ही होता रहा तो इस बार लगभग 29 सालो बाद केपटाउन के मैदान में ये सीरीज भारत के नाम हो सकती है।