‘जब मैंने 10 गेंदों पर 5 छक्के जड़े’, तब धोनी भाई ने कहा- तैयार रहना हम तुम्हें CSK में लेने वाले हैं !

दोस्तो ये बात है सभी बखूबी जानते है, की आईपीएल की सबसे सफल टीमें कौन है? जिन्होंने सबसे ज्यादा बार आईपीएल का खिताब अपने नाम किया। अगर इन सफल टीमों में से हम किसी एक टीम की बात करे, तो उनमें से एक नाम सीएसके टीम का भी है। जिसमे अभी तक आईपीएल के 4 खिताब अपने नाम कर लिए है।

और इसी के साथ सीएसके आईपीएल की दूसरी सबसे सफल टीम है। पहली सफल टीम की बात करे, तो वह मुंबई इंडियंस है, जिसने अब तक 5 खिताब अपने नाम किए है। खैर दोस्तो आज हम आईपीएल की दूसरी सफल टीम सीएसके के बारे में बात करने जा रहे है। दोस्तो जैसा की आप जानते है, की आईपीएल 2022 के लिए मेगा ऑक्शन पूरी तरह से संपन्न हो चुका है।

और अब इसी के साथ सीएसके टीम आईपीएल मैदान में अपना जलवा दिखाने पूरी तरह तैयार है। उसके पहले आपको बताना चाहेंगे, की इस बार सीएसके ने नीलामी में दीपक चाहर को 14 करोड़ की रकम देकर अपने साथ शामिल किया है। और इसके बाद इस तेज गेंदबाज ने एक बड़ा खुलासा किया। दरअसल चाहर ने बताया, की एमएस धोनी ने उनसे साल 2017 में ही ये बात कह दी थी, की अगले साल वह सीएसके के साथ सारे मैच खेलेंगे।

दोस्तो आपको बता दे, की धोनी की कप्तानी टीम सीएसके ने इस साल दीपक चाहर के ऊपर 14 करोड़ का बड़ा दाव लगाया था। जिसके बाद से ही सीएसके के फैंस इस बात से बेहद खुश नजर आए, हालाकि ये बात काफी हैरान कर देने वाली भी थी। क्योंकि की इसके पहले सीएसके ने आज तक किसी भी खिलाड़ी के ऊपर 10 करोड़ से ज्यादा की रकम खर्च नही की।

लेकिन ऐसा करने के पीछे की वजह खुद दीपक चाहर ने सबके सामने बताई है। दीपक चाहर ने स्पोर्ट्स तक से बातचीत के जरिए हमे बताया, की सीएसके के साथ मेरी जर्नी साल 2016 से शुरू हो चुकी थी। उस समय में घरेलू क्रिकेट से काफी जूझ रहा था। लेकिन किस्मत से जन ऋषिकेश कानितकर सुपर ज्वाइंट्स पुणे के सहायक कोच बने। तब उन्होंने मुझे ट्रायल के लिए बुलाया। उस दौरान मैंने सिलेक्शन मैच खेला, जब फ्लेमिंग की मुझ पर नजर पड़ी।

मैने नई गेंद से काफी बेहतरीन गेंदबाजी की, और फिर बाद में बल्लेबाजी करते हुए, कुछ चौकों और छक्कों की मदद से पचास रन बनाए। और दूसरे दिन मुझे नंबर 4 पर बल्लेबाजी करने बुलाया। और तब भी मैने 50 रन पूरे किए। और जब फ्लेमिंग ने मुझे पुणे के साथ जोड़ा तब मुझे बल्लेबाज ऑलराउंडर के रूप में टीम के शामिल किया गया। जो गेंदों को अच्छी तरह से हिट करना और नई गेंदों से शानदार गेंदबाजी करना जानता था। आगे दीपक ने बताया, की इसके बाद कैप में धोनी भाई से मेरी मुलाकात हुई। जहां मैं प्रैक्टिस मैच के दौरान तीसरे नंबर पर बल्लेबाजी करने आया था।

उस दौरान मैंने 10 गेंदों में 5 छक्के लगाए। हालाकि इस दौरान मैं रन लेने के चक्कर में चोटिल भी हुआ और मुझे बाहर जाना पड़ा। और तभी धोनी भाई में देखा, की मैं लंबे शॉट खेलकर छक्के भी लगा सकता हूं, और बॉल को अच्छी तरह से स्विंग करना भी जनता हूं। हालाकि मेरी चोट के चकते उस समय में ज्यादा मैच नहीं खेल पाया था, लेकिन वही मुझसे धोनी ने कहा था, की तैयार रहना हम तुम्हे अगले सीजन सीएसके के साथ खेलने के लिए चुनने वाले है। तुम सारे मैच खेलोगे, हम तुम्हारे ऊपर भरोसा करते है, जिस तरह से अभी खेल रहे हो, खेलते रहो।