इस दिग्गज़ खिलाड़ी का खत्म हो गया IPL करियर, सभी टीमों ने खरीदने से किया इंकार !

दोस्तो वैसे तो क्रिकेट दुनिया में बेहद शानदार खिलाड़ी हमे देखने को मिलते है। लेकिन ये खिलाड़ी शुरवात में अपने किसी छोटे प्रारूप से खेलकर अपने देश की टीम में शामिल होने का सफर तय करते है। और खिलाड़ी चाहे जो भी हो, लेकिन हर खिलाड़ी का सपना एक बार आईपीएल में खेलने का जरूर होता है। क्योंकि आईपीएल एक ऐसी लीग है, जिसमे पैसे के साथ साथ आप काफी नाम भी कमा सकते है। दोस्तो जैसा की आप जानते है, की इस बार आईपीएल जल्द ही देखने मिलेगा। जिसके लिए आईपीएल का मेगा ऑक्शन बेंगलुरु में शुरू हो चुका है।

दोस्तो इस ऑक्शन में बहुत से ऐसे खिलाड़ी रहे जिन्हे खरीदने के लिए टीमों ने अपनी तरफ से काफी मोटी रकम की बोलियां लगाई। लेकिन कई ऐसे खिलाड़ी भी देखने को मिले, जिन्हे खरीदने में टीमों ने कोई दिलचस्पी नहीं दिखाई। उनमें से एक नाम भारतीय टीम के खतरनाक खिलाड़ी कहे जाने वाले चेतेश्वर पुजारा भी है। दोस्तो इन्हे भारतीय टीम का दमदार खिलाड़ी कहा जाता है। लेकिन इस बार इस दमदार खिलाड़ी को नीलामी में अपना कोई भी खरीददार नही मिला। और अब ऐसा कहा जा रहा है, की इनका आईपीएल कैरियर लगभग खत्म होने के मोड़ पर है। पुजारा के आईपीएल कैरियर पर जोरदार ब्रेक लग सकता है।

दोस्तो भारतीय टीम के पुजारा को टेस्ट टीम का हथियार माना जाता है, लेकिन इस बार के आईपीएल नीलामी में उन्हे किसी टीम ने खरीदना उचित नहीं समझा। हालाकि दोस्तो पुजारा ने आईपीएल में अब तक कुछ खास ज्यादा मुकाबलों को अंजाम नहीं दिया है। उन्हे सीएसके टीम ने पिछले साल 2021 में नीलामी में बेस प्राइज में खरीदा था। हालाकि इस बीच वो पूरे सीजन में बेंच पर ही बैठे रहे थे। और अपनी टीम की जीत की खुशी उन्होंने बेंच पर बैठकर ही सेलिब्रेट की थी। और उस समय सीएसके में केकेआर को हराकर आईपीएल का खिताब अपने नाम किया था।

अगर इनके आईपीएल कैरियर की बात करे, तो उन्होंने साल 2010 के केकेआर टीम की तरफ से डेब्यू किया था। और फिर वह साल 2011 से 2013 तक आरसीबी की तरफ से आईपीएल में नजर आए, हालाकि इस दौरान भी उन्हे मैच खेलने के कुछ खास मौके नही दिए। और इस बीच पुजारा टी20 में भी अपना कुछ खास कमाल नहीं दिखा पाए। और यही मुख्य वजह रही की इस बार नीलामी में किसी भी टीम ने उन्हें अपने साथ शामिल करने में कोई खास रुचि नहीं दिखाई।

पुजारा ने आईपीएल में अब तक 30 मैचों में लगभग 390 रनो की परियां खेली है। और उन्होंने आईपीएल में अपना आखरी मैच पंजाब किंग्स की तरफ से खेला था। और फिर उसके बाद से ही उन्हें आईपीएल में कोई भी कैच खेलने का मौका नहीं दिया गया। चेतेश्वर पुजारा की धीमी बल्लेबाजी को लेकर हमेशा ही आलोचना होती रही है। जारा टेस्ट फॉर्मेट के स्पेशलिस्ट बल्लेबाज माने जाते हैं, और कई सालों से वो सिर्फ लंबे फॉर्मेट में ही खेलते नजर आ रहे हैं। इतना ही नहीं कुछ वक्त से वो टेस्ट फॉर्मेट में भी काफी संघर्ष रहे हैं।

पुजारा का आईपीएल रिकॉर्ड बेहद खराब रहा है। यही वजह है कि कोई भी आईपीएल टीम उनमें दिलचस्पी नहीं दिखाती। दोस्तो वैसे तो पुजारा को भारतीय टेस्ट टीम का मुख्य खिलाड़ी माना जाता है, क्योंकि वह मैदान में राहुल द्रविड़ की तरह पिच पर खड़े रहकर अपनी धाकड़ बल्लेबाजी दिखाते है। और जब वह पिच पर मौजूद होते है, इस समय उन्हे किसी भी गेंदबाज के बस की बात नहीं होती की उन्हें पिच से बाहर भेज पाए। लेकिन अगर पिछले कुछ समय को देखे तो पिछले कुछ समय से उनकी बल्लेबाजी में वो रफ्तार देखने को नहीं मिली।

हालाकि घरेलू क्रिकेट में उनकी जगह लेने बहुत से खिलाड़ी आए जो उनकी जगह शामिल होना चाहते थे। और अब उनकी धीमी गति से बल्लेबाजी करने को लेकर भी चारो तरफ लोग उनके बारे में बाते करने लगे है। खैर एक बार उन्हे फिर से मौका मिल सकता है। अगर इस बार भी उन्होंने कुछ खास कमाल नहीं किया तो पुजारा के कैरियर में ब्रेक लग सकता है।