राहुल द्रविड़ के इस कदम से उनके हेड कोच बनने की राह में आए रोड़े

भारतीय टीम के पूर्व कप्तान और बैट्समैन राहुल द्रविड़ ने एक बार फिर से नेशनल क्रिकेट एकेडमी का मुख्य बनने के लिए अप्लाई किया है। हाल ही में उनका इस पद के लिए कार्यकाल खत्म हो गया है राहुल द्रविड़ ने दूसरी बार एनसीए की टॉप पोस्ट के लिए अप्लाई किया है‌ खबर आ रही है कि राहुल द्रविड़ कि कोच बनने की संभावनाएं बहुत कम लग रही है।

खबरें तो यह भी है कि भारत के मौजूदा कोच रवि शास्त्री t20 वर्ल्ड कप के बाद भारत की कोचिंग छोड़ देंगे। ऐसा माना जा रहा था कि रवि शास्त्री के जाने के बाद राहुल द्रविड़ की जगह ले सकते हैं। इसी के चलते राहुल द्रविड़ को हाल ही में हुए श्रीलंका दौरे के लिए भारत की टीम का कोच बनाया गया था।

हाल ही में राहुल द्रविड़ का एमसी की क्रिकेट हेड की पोस्ट के रूप में कार्यकाल समाप्त हो गया है और बीसीसीआई के नियमों के अनुसार ऐसा कोई प्रावधान नहीं है कि दोबारा राहुल द्रविड़ क्रिकेट हेड बन सके। बीसीसीआई से मिली सूत्रों के अनुसार कहा गया है कि राहुल द्रविड़ ने क्रिकेट हेड की पोस्ट के लिए दोबारा अप्लाई किया है इस बात पर कोई शक नहीं है कि राहुल द्रविड़ ने एनसीए में रहते हुए बहुत अच्छा काम किया है।

बीसीसीआई की सूत्र ने आगे कहा कि पहले के मुकाबले एनसीए काफी अच्छा बन गया है और राहुल द्रविड़ के अलावा किसी भी भारतीय खिलाड़ी ने इस पोस्ट के लिए अप्लाई नहीं किया है।

ऐसा भी कहा जा रहा है कि बीसीसीआई ने इस पोस्ट के लिए आवेदन की तारीख को आगे बढ़ा दिया है। रिपोर्ट के अनुसार डेट को आगे बढ़ाने का कारण यही हो सकता है कि बीसीसीआई चाहती है कि और भी भारतीय खिलाड़ी इस पोस्ट के लिए आवेदन करें।

लेकिन कहा जा रहा है कि राहुल द्रविड़ जब तक इस रेस में है किसी और का अप्लाई करने का कोई मतलब नहीं बनता। राहुल द्रविड़ के एनसीए के लिए अप्लाई करना यह बताता है कि वह सिर्फ जूनियर लेवल पर काम करना चाहते हैं। तो उनका भारतीय टीम का कोच बनना मुश्किल हो गया है।