अब रवि शास्त्री ने गांगुली को लेकर दिया बड़ा बयान, बताया- ‘क्यों विराट से जबरदस्ती कप्तानी छीनी गांगुली ने…’

दोस्तों आप तो जानते ही है, की फिलहाल विराट कोहली की कप्तानी को लेकर बीसीसीआई और कोहली के बीच का गरम माहौल अभी शांत नही हुआ है। जहां शुरुवात में प्रेस कांफ्रेंस में आए विराट कोहली ने बीसीसीआई पर बिना उनसे बातचीत किए उन्हे वनडे कप्तानी से हटाने का इल्जाम लगाया। और फिर कुछ ही दिन पहले बीसीसीआई के चीफ सिलेक्टर चेतन शर्मा ने विराट के इस बयान को पूरी तरह झूठा बताया।

और इसी के चलते अब भारतीय टीम के पूर्व हेड कोच रवि शास्त्री ने अपनी टिप्पणी को सबके सामने पेश किया है। इस बातचीत के दौरान रवि शास्त्री ने ये बताया, की किस तरह से इस विवाद को पहले ही शांत किया जा सकता था। और इसके अलावा उन्होंने इस मामले पर बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली के बयान को भी सामने रखने की मांग की।

बता दे, की रवि शास्त्री ने एक अंग्रेजी अखबार में दिए गए इंटरव्यू में कहा, की किस तरह से पहले ही इस मामले को निपटाया जा सकता था। अगर विराट और बोर्ड के बीच इस मामले को लेकर पहले ही बातचीत होती तो यह मामला यहां तक नहीं पहुंच पाता। आगे उन्होंने कहा, की कोहली ने अपनी सारी बाते सामने रखी है, और अब सौरव गांगुली को भी अपनी बाते सभी के सामने पेश करने की जरूरत है।

लेकिन इसके लिए दोनों पक्षों के बीच संवाद होना चाहिए। गौरतलब है कि विराट कोहली को वनडे की कप्तानी से हटाने के फैसले पर शास्त्री पहले भी अपनी राय जाहिर करते रहे हैं। पहले उन्होंने बीसीसीआई के फैसले की तारीफ की थी। और इसी दौरान जब रवि शास्त्री से उनके और विराट के बीच संबंधों ले बारे में कुछ सवाल पूछे गए, तो उन्होने बताया, की उन दोनो के बीच काफी अच्छे संबंध है।

लोग कुछ भी बोले, लेकिन विराट ने पेशेवर तरीके से अपने सारे काम किए है। रवि ने ये भी बताया, की उनकी और विराट की सोच काफी हद तक मिलती जुलती है। और उन्हे मैदान में विराट का आक्रमक रूप भी काफी पसंद आता है। रवि ने साथ ही ये भी बताया, की अपने शुरुवाती दौर में उनका रवैया भी बिल्कुल विराट कोहली के आक्रामक रूप जैसा ही था। खैर दोस्तो हमे देखना ये है, की आखिर ये मामला और कितने आगे तक जाएगा। और इस विवाद से हमारी भारतीय टीम को कितनी जल्दी छुटकारा मिलेगा।