साउथ अफ्रीका के हाथों दूसरे टेस्ट में क्यों हारी टीम इंडिया, कप्तान केएल राहुल ने बताई हार की असली वजह !

दोस्तों इस समय भारतीय टीम दक्षिण अफ्रीका के साथ 3 मैचों की टेस्ट सीरीज को अंजाम दे रही है। जहां पहले टेस्ट मैच में भारतीय टीम ने शानदार तरीके से जीत अपने खाते में डाली थी, वही दूसरे टेस्ट मैच के दौरान भारतीय टीम को दक्षिण अफ्रीका के सामने हार का मुंह देखना पड़ा। बता दे, की इस मैच की कप्तानी केएल राहुल कर रहे थे। बता दे, की भारत को जोहानिसबर्ग के द वेंडर्स स्टेडियम में पूरे 29 सालो के बाद हार का सामना करना पड़ा है।

और दूसरी तरफ दक्षिण अफ्रीका के कप्तान डीन एल्गर ने अपनी शानदार कप्तानी करते हुए इस सीरीज में 1.1 से साझेदारी कर ली है। बता दे, की दूसरे टेस्ट मैच में विराट मैच से बाहर थे, और उनके ना रहते हुए, टीम की ये हार काफी निराशजनक साबित हुई। हालाकि मैच में हारने के बाद टीम के कप्तान केएल राहुल ने क्या कहा, आइए आपको बताते है।

दरअसल जोहान्सबर्ग टेस्ट मैच में मिली हार के बाद दोनों ही टीमों का श्रृंखला पर पलड़ा भारी हो गया है। वहीं टीम इंडिया के लिए ये बड़ी चुनौती होने वाला है क्योंकि अफ्रीकी सरजमीं पर अभी तक भारत सीरीज नहीं जीत सका है। वहीं बात करें दूसरे टेस्ट मैच की तो दूसरी पारी में अजिंक्य रहाणे, पुजारा और विहारी के अलावा एक भी बल्लेबाज ने कुछ खास अच्छी पारी नहीं खेली थी।

वहीं चौथे दिन के खेल में मुख्य तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह और मोहम्मद सिराज ने भी काफी ज्यादा निराश किया। बता दे, की इस मैच में दोनो ही गेंदबाजों ने एक भी विकेट अपने खाते में नही डाला। और साथ ही मोहम्मद सिराज की इंजरी के वजह से उनकी कमी सभी को याद आई। और इसका असर साफतौर पर मैच में देखा गया। और इसी के चलते भारतीय टीम को ये मैच अपने हाथो से गवाना पड़ा। हालाकि इस मैच में भारतीय टीम की हार का एक कारण बल्लेबाजों की वजह से भी देखने मिली।

और इन्ही सब चीजों को ध्यान में रखते हुए केएल राहुल ने गेंदबाजी और बल्लेबाजी दोनो चीजों में अपनी कुछ बाते सामने पेश की। बता दे, की जोहानिसबर्ग में दूसरे टेस्ट मैच में हार का सामना करने के बाद प्रेजेंटेशन में केएल राहुल ने कहा, की हर टेस्ट में जो हम खेलते है, उसमे हम सिर्फ जीतने के बारे में ही सोचते है।

और हम उसी तरह की टीम है, जहां हम सिर्फ जीतने का विचार करे। और चौथे दिन 122 रन बनाना टीम के लिए काफी मुश्किल सबित हुआ। क्योंकि पिच पर दोहरा उछाल था लेकिन, जैसा कि मैंने कहा, दक्षिण अफ़्रीकी बल्लेबाजों ने वास्तव में काफी बढ़िया बल्लेबाजी कर रहे थे। पहली पारी में भारत का स्कोर 202 रन बेहद कम था। इस स्कोर में कम से कम 50-60 रन और होने चाहिए थे।

जिसके जरिए हम उन पर दबाव बना सकते थे। और इसके अलावा उन्होंने शार्दुल ने की तारीफ में बताया, की ये टेस्ट मैच उनके लिए काफी अच्छा साबित हुआ। उन्होंने हमे पेल भी बहुत से मैच जिताए है। उन्होंने इस मैच की पहली पारी में भी शानदार बल्लेबाजी की वही दूसरी पारी में भी उन्होंने हमे काफी अच्छा मौका दिया। वो हमारे लिए काफी महत्वपूर्ण खिलाड़ी है। और पिछले कई सालो से टीम के लिए खेलते आ रहे है। हमारा मानना है कि पुजारा और रहाणे हमारे सर्वश्रेष्ठ मध्यक्रम के बल्लेबाज हैं।

इसी मानसिकता के साथ बल्लेबाजी करें और ऐसी पारी खेलें। यह उन्हें आत्मविश्वास देगा और अगले टेस्ट मैच में उन्हें और बेहतर करने के लिए प्रेरित करेगा। और इसी दौरान आखिर में केएल राहुल ने बताया, की विराट पहले से काफी ठीक है, और अब वो प्रैक्टिस भी करने लगे है। नेट्स पर हमे सिराज पर ध्यान देने की जरूरत है। क्योंकि हैमस्ट्रिंग के चलते मैच में इतनी जल्दी वापसी करना काफी मुश्किल काम है। हालाकि हमारे पास उमेश और इशांत के रूप में काफी मजबूत बेंच स्ट्रेंथ है। जब हम यहां आए तो हमें यही उम्मीद थी कि हर टेस्ट प्रतिस्पर्धी और चुनौतीपूर्ण से भरा होगा।

और दूसरे टेस्ट मैच में मिली हार के बाद हमे जीतने की और अधिक मनसा हो गई है, इसलिए हमे केपटाउन में खेले जाने वाले तीसरे टेस्ट मैच का इंतजार काफी जोरदार तरीके से हो रहा है। और इसके लिए हम पूरी तैयारी के साथ मैदान में उतरेंगे।