एक वक्त लोकल ट्रेन में सफर करते थे शार्दूल ठाकुर, आज भारतीय टीम के स्टार प्लयेर !


शार्दूल ठाकुर आज भारतीय क्रिकेट का एक उभरत हुआ सितारा है मगर 2018 में एक वक्त ऐसा भी था जब वह साउथ अफ्रीका से लौटे वक्त किसीने उन्हे पहचाना तक नही था।

ये घटना शार्दुल के साथ हुआ था साल 2018 में जब वे साउथ अफ्रीका से मुंबई लौटे थे। शार्दुल अपने घर जाने के लिए अंधेरी से लोकल ट्रेन पकड़े थे। टीम इंडिया के इस स्टार क्रिकेटर को यात्रियों से भरे ट्रेन में किसीने पहचाना तक नहीं था।

ये बात शार्दुल ठाकुर ने अपने एक इंटरव्यू में बताया की, ‘में साउथ अफ्रीका से मुंबई लौटने के बाद अंधेरी में ट्रेन पकड़ी ।मैंने तब हेडफोन लगा रखा था। ओर जल्दी से घर पहुंचना चाहता था। जो लोग मुझे ट्रेन में देख रहे थे वो सोच रहे थे की क्या मैं सच में शार्दुल ठाकुर हूं या नहीं।’

उन्होंने ये भी कहा की, ‘कुछ कॉलेज के छात्रों ने मेरी फोटो गूगल पर सर्च की ओर निश्चित होने के बाद उन्होंने सेल्फी के लिए पूछा। मैने उनसे कहा की पालघर पहुंचने दे , फिर सेल्फी लेते है।मेरे साथ उस ट्रेन में सफर कर रहे कई लोग आश्चर्यचकित थे की भारतीय टीम के क्रिकेटर उनके साथ सफर कर रहा था।’

शार्दुल का उम्र 29 साल है। ओर वो महाराष्ट्र के पालघर के रहने वाले है। अपने स्कूल के दिनो मे वह हर सुबह पांच बजे ट्रेन पकड़कर बोरीवली जाते थे, ताकि स्कूल के लिए क्रिकेट खेल सके। इसीलिए लोकल ट्रेनों से शार्दुल को काफी लगाव है क्योंकि उनसे उनका पुराना जुड़ाव जो है।

क्योंकि वह रोजाना क्रिकेट खेलने के लिए पालघर से बारीवाली जाते थे, इसीलिए उनका नाम ‘पालघर एक्सप्रेस’ पर गया।
रोजाना शार्दुल तीन घंटे के सफर करते थे। ओर उनका कहना है की यह सफर उनको मानसिक रूप से काफी मजबूत किया ।

शार्दूल ठाकुर ने कल भारत के लिए एक शानदार अर्धशतकीय पारी खेली और भारतीय टीम को एक सम्मानजनक स्कोर तक पहुंचाया ।