को’रोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद कैसी है सौरव गांगुली की तबियत? अस्पताल से आई बड़ी अपडेट

दोस्तों जैसा की आप जानते है, की पिछले दो सालो में कोरोना जैसी घातक बीमारी ने अपना क्या प्रभाव दिखाया है। और अब एक बार फिर कोरोना का नया वेरिएंट ओमीक्रोन लोगो के दिलो में दहशत पैदा कर रहा है। और दोस्तो इसी बीच हमने आपसे बताया था, की बीसीसीआई के अध्यक्ष और भारत के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली कोरोना पॉजिटिव पाए गए है।

जिसके चलते उन्हे तुरंत ही अस्पताल ले जाया गया। इसकी जानकारी बोर्ड से जुड़े एक सूत्र के मुताबिक जानने मिली है। उसमे बताया, की आरटी पीसीआर का टेस्ट पॉजिटिव आया है, जिसके बाद तुरंत ही सौरव गांगुली को अस्पताल में भर्ती कराया गया। और इसी बीच अब अस्पताल ने सौरव गांगुली से जुड़ी खबर हमे दी है, जहां उन्होंने बताया, की उनका स्वास्थ फिलहाल स्थिर है। और उन्हें मोनोक्लोनल एंटीबॉडी कॉकटेल थेरेपी दी गई है।

अस्पताल द्वारा सामने आए बयानों में डॉक्टर्स का कहना है, कि उन्हें उसी रात 27 दिसंबर को मोनोक्लोनल एंटीबॉडी कॉकटेल थेरेपी दी गई और वर्तमान में हेमोडायनामिक रूप से स्थिर है। डॉ. देवी शेट्टी और डॉ. आफताब खान की सलाह से डॉ सरोज मंडल, डॉ सप्तर्षि बसु और डॉ सौतिक पांडा की टीम उनके स्वास्थ्य की स्थिति पर कड़ी नजर रख रहा है।

दोस्तो इन सब बातो में हैरानी वाली बात ये है, की सौरव गांगुली को पहले ही कोरोना के दोनो डोज लग चुके है, इसके बावजूद उन्हे इस बीमारी ने जकड़ लिया। फिलहाल इस बीच वह लगातार यात्रा भी कर रहे थे और इसी दौरान उनका कोरोना टेस्ट 27 दिसंबर को पॉजिटिव पाया गया। जिसके बाद उन्हें तत्काल ही वुडलैंड्स नर्सिंग होम ले जाया गया। जहां उन्हे दवाई दी गई। और फिलहाल अभी उनकी हालत स्थिर है।

हालाकि दोस्तो उनके परिवार में डोना और उनकी बेटी सना की रिपोर्ट नेगेटिव पाई गई है। जिसके बारे में डोना ने कहा, की उनकी तबीयत खराब होते ही उन्होंने खुद को आइसोलेट कर लिया था जिसके चलते हम दोनो कोरोना संक्रमित होने से बच पाए। आगे सौरव गांगुली की पत्नी डोना ने बताया, की सौरव के भाई स्नेहशीश दा को पिछले साल ही कोरोना हुआ था। और मेरे माता पिता और सास पर भी कोरोना हावी हो हुआ था।

हमारे पूरे घर में अलग अलग समय पर बहुत से लोगो को कोरोनाका सामना करना पड़ चुका है। इसलिए ऐसा बिलकुल नहीं है, की परिवार में अचानक से कोरोना फैला। बल्कि जब सौरव गांगुली को मात्र बुखार का असर हुआ था, तभी उन्होंने खुद को परिवार से दूर कर लिया था। और इसलिए शायद मुझे और सब को कोरोना नही हो पाया और हमारी रिपोर्ट्स भी नेगेटिव ही आई।