क्रिकेटर बनाने के लिए पिता ने छोड़ा घर, बेटे ने विश्व कप जीतकर दिया तोहफा

भारत के युवा बल्लेबाज शुभमन गिल जिन्होंने अंडर-19 विश्वकप में अपना नाम बनाया और फिर टीम इंडिया तक का सफर तय किया इनका जन्म 1999 में पंजाब के फाजिल्का में हुआ था इन्होने अपना क्रिकेट करियर बनाने के लिए मोहाली रहने लगे वही से उन्होंने अपना क्रिकेट का शुरुआत किया

इनके पिता भी क्रिकेटर बनना चाहते थे उनका नाम लखविंदर गिल है इसके पिता ने अपना सपना पूरा नहीं कर पाए लेकिन उन्होंने अपने बेटे शुभमन गिल को क्रिकेटर बनाने के लिए बहुत मेहनत किया 2018 में अंडर-19 विश्व कप में शानदार बल्लेबाजी करते हुए गिल ने भारत को जित दिलाई थी जिसमे पृथ्वी शॉ कप्तान थे शुभमन गिल मैन ऑफ द टूर्नामेंट रहे थे

इस मैच के बाद गिल के करियर में बदलाव आने लगा जिसके बाद आईपीएल में कोलकाता नाइट राइडर्स की टीम में गिल है चुनाव हुआ आईपीएल में भी गिल शानदार प्रदर्शन दिखये थे इसके बाद इनका सेलेक्शन भारतीय टीम में हुआ 31 जनवरी 2019 को न्यूजीलैंड के खिलाफ हेमिल्टन में अपना पहला वनडे खेला लेकिन वो इसके सफल नहीं रहे

जिसके बाद शुभमन गिल ने 2020-21 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ भारतीय टेस्ट टीम में गिल का शानदार प्रदर्शन रहा है दूसरे टेस्ट मैच की पहली पारी में उन्होंने अर्धशतक लगाया दूसरी पारी में 91 रनों की जो पारी खेली और भारत ने जीत हासिल की और ऑस्ट्रेलिया में सीरीज जीत कर इतिहास लिख दिया

गिल के प्रदर्शन के कारन उन्हें इंग्लैंड दौरे पे भी चुना गया था उन्होंने आईसीसी विश्व टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल भी खेले लेकिन फिर चोट के कारण उन्हें इंग्लैंड दौरे से हटना पड़ा लेकिन उनकी प्रदर्शन देख कर बोला जा सकता है की वो लम्बे समय तक खेल पाएंगे