‘IPL में लड़कियाँ नाचती हैं’ ऐसा कहकर तालि’बान ने, अफ़ग़ानिस्तान में लगाया आईपीएल देखने पर बैन !

दोस्तों जैसा की आप सब जानते है, की क्रिकेट खेल के आईपीएल टूर्नामेंट को इसके बाकी सारे फॉर्मेट में से सबसे ज्यादा पसंद किया जाता है। और सिर्फ भारत में नही बल्कि पूरी दुनिया में इस फॉर्मेट के लाखो करोड़ो दीवाने मौजूद है, जो इस फॉर्मेट का पूरा आनंद उठाना चाहते है। लेकिन तालिबान सरकार ने अफगानिस्तान में आईपीएल के प्रसारण को रोक दिया है।

दोस्तो आपको बता दे, की जब से अफगान में तालिबान सरकार आई है, तब से लेकर अब तक अफगानिस्तान में लगातार हंगामा चल ही रहा है। और वही खेल क्षेत्र में भी तालिबान ने कई तरह के बदलाव किए है। यहां तक का तालिबान सरकार ने महिलाओं के क्रिकेट खेलने पर भी रोक लगा दी। दरअसल दोस्तो तालिबान सरकार का ऐसा मानना है, की क्रिकेट जैसे खेल में लोग महिलाओं के शरीर की केवल नुमाइश ही करते है।

और इसी के साथ अब उन्होंने एक क्षेत्र में एक और बड़ा फैसला किया है, जहां उन्होंने आईपीएल प्रसारण रुकवा दिया है। और आज हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से पूरे माजरे के बारे में बताने जा रहे है, की आखिर हुआ क्या है? दोस्तो आईपीएल 2021 का दूसरे फेज 19 सितंबर से यूएई में शुरू हुआ था। जहां पहला मैच मुंबई इंडियंस और सीएसके के बीच हुआ था।

और इस मैच में सीएसके ने मुंबई इंडियंस को 20 रनो से हराया था। इसी के साथ बीसीसीआई ने यूएई में हो रहे आईपीएल फेज 2 में कुछ शर्तों के साथ प्रशंसकों को भी स्टेडियम में आके मैच का लुफ्त उठाने की मंजुरी दे दी है। 31 मैचों के साथ आईपीएल और रोमांचक होते जा रहा है। और जिस दौरान पूरी दुनिया आईपीएल के मजे उठा रही थी, इस दौरान अफगानिस्तान सरकार ने ये एलान कर दिया की आईपीएल का प्रसारण अफगानिस्तान में नही किया जाएगा, क्योंकि ये नियम यहां की नई सरकार ने लागू किया है।

और इसी प्रकार यूएई में खेले गए आईपीएल का मजा मात्र अफगानिस्तान छोड़कर सभी ने उठाया, क्योंकि तालिबान सरकार का मानना है, की आईपीएल का कंटेंट इस्लामी धर्म का विरोध करता है। और इसी वजह से अफगानिस्तान में आईपीएल का प्रसारण नही होगा। और साथ ही उनका ये मानना भी है, की चियर लीडर्स खुले बालों में डांस करती है, और स्टेडियम में कई सारी महिलाएं भी उपस्थित रहती है।

और ये चीज़े इस्लामिक संस्कृति के विरुद्ध है। और तालिबान की सरकार महिलाओं को इस चीज की कतई इजाजत नहीं देता। और इन्ही कुछ कारणों से तालिबान सरकार ने अफगानिस्तान में आईपीएल पर बैन लगवा दिया। दोस्तो आपको बता दे, की आईपीएल टूर्नामेंट में देश विदेश के सभी खिलाड़ी शामिल होते है जिनमे अफगानिस्तान के खिलाड़ी भी शामिल है।

अफगानिस्तान टीम के स्टार लेग स्पिनर राशिद खान, मोहम्मद नबी और मुजीब उर रहमान तीनो सनराईजर्स हैदराबाद टीम का हिस्सा है। जहां इसका पहला मुकाबला में दिल्ली कैपिटल के साथ 22 सितंबर से होगा। इसके पहले भारत में खेले गए आईपीएल में इस टीम ने कुछ खास प्रदर्शन नही किया था। और इस टीम ने 7 में से मात्र 1 मुकाबले को ही अपने नाम किया था। और इसी वजह से सनराइजर्स हैदराबाद अभी भी अंक तालिका के सबसे निचले पायदान पर विराजमान है।