टेस्ट क्रिकेट में सबसे ज्यादा बार 0 पर आउट होने वाले टॉप 5 खिलाड़ी

वैसे तो क्रिकेट में रन बनाने का जिम्मा बल्लेबाजों पर रहता है। टीम के ज्यादातर रन सलामी बल्लेबाज और उनके बाद आने वाले मिडिल ऑर्डर के बल्लेबाज ही बनाते है। लेकिन कभी-कभी ऐसी परिस्थिति उत्पन्न हो जाती है की निचले क्रम के बल्लेबाजों को भी अपने बल्ले से योगदान देना पड़ता है। हालांकि उनका काम है गेंदबाजी करना पर हमें भी यह आशा रहती है कि वह कुछ ना कुछ रंग तो जरूर बनाएं पर ज्यादातर मौकों पर वे जल्दी आउट हो जाते हैं। आज हम देखेंगे ऐसे ही पांच बल्लेबाज जिनके नाम दर्ज है टेस्ट क्रिकेट में सबसे ज्यादा बार शून्य पर आउट होने का रिकॉर्ड।

1- कर्टनी वाल्श : 43

वेस्ट इंडीज के खतरनाक गेंदबाज कर्टनी वाल्श का बल्लेबाजी में कभी हाथ नहीं जमा। वाल्श के नाम टेस्ट क्रिकेट में 43 बार शून्य पर आउट होने का रिकॉर्ड है। बता दें कि यह टेस्ट क्रिकेट में किसी भी बल्लेबाज द्वारा सबसे ज्यादा बार शून्य पर आउट होने का रिकॉर्ड है। निसंदेह वाल्श अपनी गेंदबाजी से बल्लेबाजों को डरा देते थे मगर बल्लेबाजी में उन्होंने ज्यादा कोई कमाल नहीं किया।

2.क्रिस मार्टिन : 36

न्यूजीलैंड के पूर्व तेज गेंदबाज क्रिस मार्टिन का भी बल्लेबाजी में कोई खास योगदान नहीं रहा है। मार्टिन टेस्ट क्रिकेट में 36 बार शून्य पर आउट हुए हैं जो किसी भी बल्लेबाज द्वारा दूसरी सबसे ज्यादा बार शून्य पर आउट होने का रिकॉर्ड है।

3. ग्लेन मैकग्रा : 35

पूर्व ऑस्ट्रेलियाई तेज गेंदबाज ग्लेन मैकग्रा ने अपने 14 साल लंबे टेस्ट करियर में अनेकों विकेट लिए परंतु जब बल्लेबाजी की बात आई तो उनके नाम टेस्ट क्रिकेट में 35 शून्य का स्कोर है। जाहिर है मैकग्रा के हाथ में बल्ले से ज्यादा गेंद अच्छी लगती थी।

4. स्टुअर्ट ब्रॉड : 35

इंग्लैंड की प्रीमियर तेज गेंदबाज स्टूअर्ट ब्रॉड थोड़ी बहुत बल्लेबाजी भी कर लेते हैं। उनके नाम टेस्ट क्रिकेट में 12 अर्धशतक और एक शतक भी दर्ज है। मगर फिर भी स्टूअर्ट ब्रॉड टेस्ट क्रिकेट में कुल 35 बार शून्य के स्कोर पर आउट हुए हैं जो ग्लेन मैकग्रा के बराबर है। स्टुअर्ट अभी भी इंग्लैंड के लिए टेस्ट क्रिकेट खेलते हैं और इसलिए यह आंकड़ा और ऊपर जा सकता है।

5. शेन वॉर्न : 33

स्पिन गेंदबाजी के बादशाह पूर्व ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी शेन वॉर्न के नाम टेस्ट क्रिकेट में दूसरी सबसे ज्यादा विकेट दर्ज है। उन्होंने टेस्ट क्रिकेट में 708 विकेट चटकाए हैं मगर बात जब बल्लेबाजी की हो तो उनके नाम कुल 33 शून्य का स्कोर है। टेस्ट क्रिकेट में 3000 से भी ज्यादा रन बनाने के बाद इतना तो जाहिर है कि शेन वॉर्न थोड़ी बहुत बल्लेबाजी भी कर सकते थे। टेस्ट क्रिकेट में उनका उच्चतम स्कोर 99 का है।