यह टी-20 वर्ल्ड-कप इस भारतीय दिग्गज का आखिरी वर्ल्ड-कप होगा

जब टीम इंडिया को आईसीसी टी -20 विश्व कप 2021 के लिए घोषित किया गया था, तो 15 सदस्यीय टीम में एक नाम उभरा है जिसमें किसी भी क्रिकेट प्रशंसकों की उम्मीद नहीं थी। हालांकि, ज्यादातर लोग खुश थे।

भारत के वरिष्ठ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन को टी -20 विश्व कप 2021 के लिए टीम इंडिया में शामिल किया गया है। उनके तजुर्बा ने बीसीसीआई को प्रभावित किया और अब वो अपने प्रदर्शन की बदौलत टीम में धमाकेदार वापसी करना चाहेंगे।

इस टूर्नामेंट के लिए वाशिंगटन सुंदर का नाम यह तय किया गया था क्योंकि उसने इंग्लैंड दौरे के दौरान स्पिनर गेंदबाजी के साथ-साथ बल्लेबाजी भी की, लेकिन इंजरी की वजह से उन्हें टी -20 विश्व कप 2021 से बाहर होना पड़ा।

रविचंद्रन अश्विन ने 46 टी 20 अंतरराष्ट्रीय मैच खेला है, जिसमें उन्हें 6.97 अर्थव्यवस्था दर से 52 विकेट मिले हैं। जाहिर है, भारतीय टीम प्रबंधन टी -20 विश्व कप जैसे बड़े टूर्नामेंट का लाभ उठाना चाहता है।

यह टी -20 विश्व कप रविचंद्रन अश्विन का आखिरी विश्व कप साबित हो सकता है और शायद उन्हें फिर से ऐसा मौका नहीं मिला। इसका कारण यह है कि अगले वर्ष 2022 टी -20 विश्व कप ऑस्ट्रेलिया में होगा, और पेस गेंदबाज और तेजी से गेंदबाजी ऑलराउंडर को अधिक महत्व दिया जायेगा।

17 सितंबर, 2021 को रविचंद्रन अश्विन 35 वर्ष का होगा, अगले टी -20 विश्व कप में खेलना मुश्किल है। बीसीसीआई भी 2022 के इस आईसीसी टूर्नामेंट में नए चेहरे की कोशिश करना चाहता है।