वीडियो : नई गेंद को लेकर विराट कोहली और अंपायर के बीच हुई लड़ाई, लाइव मैच में दिखा हाइवोल्टेज ड्रामा

दोस्तो हमे कई मैचों में बीच मैदान पर ही कई बार अंपायर और खिलाड़ियों के बीच बहसबाजी देखने को मिली है, और ऐसा ही कुछ नजारा हमे हाल ही में चल रहे भारत और दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ सेंचुरियन में चल रहे टेस्ट मैच में भी देखने को मिला। हालाकि इस मैच में तो हमे विराट और अंपायर के बीच कई बार बहस होती हुई नजर आई।

जहां एक तरह इस मैच में भारतीय टीम ने पहले बल्लेबाजी करते हुए, दक्षिण अफ्रीका के सामने 305 रनो का लक्ष्य रखा। वही मैच के चौथे दिन दक्षिण अफ्रीका को अपनी दूसरी पारी की शुरुवात करनी थी। तभी विराट और टीम की अंपायर से बहस की खबरे सामने आई। और ये बहस नई बॉल के चलते हुई थी।

दरअसल दोस्तो मैच ने अपनी दूसरी पारी की शुरुवात करने दक्षिण अफ्रीका के ओपनर मैदान पर मौजूद थे। और भारतीय टीम ने पूरी फील्डिंग भी व्यवस्थित कर ली थी। और उसी समय कोहली ने खेल को रोकते हुए कहा, की उन्हे जो बॉल दी है, वह पुरानी है। इस दौरान कोहली ने बताया, की उन्हे गेंद चुनने का मौका ही नही मिला। और इस बहस में करीब 10 मिनट का समय चला गया। इसके बाद अंपायर ने नई बोल का बॉक्स मंगवाया।

और भारतीय टीम को गेंद चुनने के लिए आमंत्रित किया। और इस समय कोहली के साथ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन, मोहम्मद शमी और मोहम्मद सिराज भी नजर आए। इस दौरान कोहली और अश्विन ने सभी बोलों के सीम और ग्रिप को चेक किया। इनमे से अश्विन को एक गेंद पसंद आई और उसके बाद मैच शुरू करने का मौका आया।

और इस दौरान भारतीय लीजेंड सुनील गावस्कर अपनी कमेंट्री में लगे हुए थे। उन्होंने कहा, की हर एक बॉल का आकार, रंग और वजन काफी महत्वपूर्ण होता है। सभी में काफी अंतर भी होता है। और इसी वजह से भारतीय टीम नई बॉल की मांग कर रही थी। सुनील गावस्कर ने बताया, की हमारे समय में कपिल देव ही बॉल का चयन करते थे।

और इसी नई बॉल के चयन के बाद भारतीय टीम ने दक्षिण अफ्रीका को बैकफुट पर छोड़ दिया। क्योंकि दक्षिण अफ्रीका मैदान में 305 रनो का पीछा करते हुए, चौथे दिन का खेल समाप्त होते होते मात्र 94 रनो पर ही 4 विकेट गवा चुकी थी।

दूसरी पारी में सभी विकेट तेज़ गेंदबाजों द्वारा ही चटकाए गए। जहां बुमराह द्वारा 2 विकेट हासिल किए गए, वही दूसरी ओर मोहम्मद शमी और मोहम्मद सिराज द्वारा 1.1 विकेट हासिल किया गया।