इस गेंदबाज से बहुत अधिक डरते थे वीरेंद्र सहवाग मैच से पहले नहीं आती थी नींद

वैसे तो आप सभी को पता है कि भारत के पूर्व खिलाड़ी वीरेंद्र सहवाग अपने समय के धुआंधार बल्लेबाजों में सिगनेज आते थे। उन्होंने कभी भी दवाब में रहकर खेलना नहीं सीखा चाहे टीम के हालात कैसे भी हो। वह जैसे ही मैदान पर ओपनिंग करने आते थे

वैसे ही अपने बल्ले से कमाल करना शुरू कर देते थे। लेकिन हाल ही में जब वीरेंद्र सहवाग से एक इंटरव्यू के दौरान पूछा गया कि वह सबसे ज्यादा दुनिया भर में किस गेंदबाज से डरते थे तो उन्होंने श्रीलंका के पूर्व महान स्पिनर मुथैया मुरलीधरन का नाम लिया।

वीरेंद्र सहवाग ने इसके अलावा मुथैया मुरलीधरन के बारे में बहुत सारे खुलासे की है। वीरेंद्र सहवाग ने कहा कि उन्हें मुरलीधरन के खिलाफ सेट होने में लगभग 7 से 8 साल लग गए थे। अपनी एक हाल ही के दिए हुए इंटरव्यू में वीरेंद्र सहवाग ने कहा “मेरे लिए दुनिया भर में सबसे ज्यादा खतरनाक गेंदबाज मुरलीधरन ही थे

मुझे उन्हें समझने में लगभग 7 से 8 साल लग गए जब भी हमारा मैच लंका के खिलाफ होता था तो मुझे उनसे डर लगता था मैं मैच से पहले सो भी नहीं पाता था।”

आगे जब वीरेंद्र सहवाग से अभी के बारे में पूछा गया तो उन्होंने जवाब दिया कि अगर मुझे आज के समय में मुरलीधरन के खिलाफ खेलना पड़ा तो मैं शायद खेलने से पहले सो भी नहीं पाऊंगा। उन्होंने मुरलीधरन के बारे में बात करते हुए कहा कि उनके गेंदबाजी इतनी अच्छी है कि पता ही नहीं चलता कि कौन सी गेंद ऑफ स्पिन होगी और कौन सी गेंद लेग स्पिन होगी।

वीरेंद्र सहवाग ने अपने तीनों की फॉर्मेट में बहुत सारे रंग बटोरे हैं वह साल 2007 में भारतीय टीम में वर्ल्ड कप विजेता टीम के सभी रहे हैं और साल 2011 के वर्ल्ड कप में सचिन और सहवाग ने भारतीय टीम की कमान संभाली थी।