पुलिस जांच में शामिल हुए युवराज सिंह, हरियाणा पुलिस को मोबाइल सौंपा

दलितों के लिए कुछ टिप्पणी की, जो कि बेहद अपमानजनक थी इसके मामले में हरियाणा पुलिस युवराज सिंह का फ़ोन जब्त कर ली, युवराज सिंह जांच में शामिल हो गए हैं। हरियाणा पुलिस ने ऐसा कोर्ट को बताया कोर्ट ने बताया की युवराज सिंह के खिलाफ पुलिस कार्रवाई पर अगली सुनवाई तक रोक जारी रहेगी।

दलितों के लिए कुछ टिप्पणी की, जो कि बेहद अपमानजनक थी इसके आरोप में दर्ज एफआईआर मामले में हरियाणा पुलिस का कहना है की युवराज सिंह जांच में शामिल हो गए है। युवराज सिंह जिस फ़ोन से बात की थी वो फ़ोन पुलिस ने उपलब्ध करवा लिया है

पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट ने इस पर युवराज सिंह द्वारा सौंपे उपकरण की जांच कर रिपोर्ट सौंपने का आदेश दिया है। कोर्ट ने बताया की अगली सुनवाई तक युवराज सिंह पर किसी भी प्रकार की पुलिस कार्रवाई नहीं होगी

युवराज सिंह ने बताया था कि अपने करीबी दोस्त रोहित शर्मा के साथ1 अप्रैल, 2020 को वह सोशल मीडियालाइव चैट कर रहे थे। जिसमे लॉकडाउन को लेकर बात चल रही थी इसी बिच युवराज सिंह ने मजाक में अपने दोस्तों को कुछ शब्द कह दिए थे। जिसके बाद यह वीडियो तेजी से वायरल हो गई थी जिसके बाद बताया गया की यह मैसेज दलित वर्ग का अपमान है।

युवराज सिंह ने बताया की उनका मन किसी को अपमान करना नहीं था युवराज सिंह ने कहा कि वह शब्द उन्होंने अपने दोस्त के पिता के शादी में नाचने पर टिप्पणी के रूप में कहे थे जो उन्होंने मजकक के रूप में बोले थे युवराज के द्वारा इस विषय पर स्पष्ट रूप से जवाब देने के वाबजूद उनपर एफआईआर करा दिया गया

हाईकोर्ट ने युवराज को अंतरिम जमानत देते हुए अपने आदेश में कहा था कि लोगों को ऐसी बातें करने से बचना चाहिए जिसका कोई गलत मतलब निकाल सके और यह बात मशहूर लोगों के मामले में ज्यादा लागू होनी चाहिए।